Advertisement


देव स्वामी भारत के पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरण सिंह के मित्र व सटीक भविष्यवक्ता थे। चौधरी बंसी लाल के मुख्यमंत्री बनने की उनकी भविष्यवाणी भी पूर्णता सत्य साबित हुई। यह विचार नैशनलिस्ट कांगे्रस पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष व हरियाणा विधानसभा के पूर्व डिप्टी स्पीकर चौधरी वेद पाल ने देव स्वामी के आकस्मिक निधन पर शोक संवेदना प्रकट करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि देव स्वामी के निधन से उन्होंने एक मार्गदर्शक साथी व विद्वान दोस्त सदा के लिए खो दिया।
चौधरी वेद पाल ने कहा कि देव स्वामी आर्य समाज के प्रकाण्ड विद्वान थे। चारों वेदों के ज्ञाता थे और सत्यार्थ प्रकाश उन्हें कण्ठस्थ थी। उन्होंने कहा कि देव स्वामी ने अपना सारा जीवन समाज सेवा व जन सेवा के लिए अर्पित कर रखा था और उन्होंने आजीवन ब्रह्मचर्या का पालन किया और लोगों को कुरीतियों से और पाखण्डों से छुटकारा दिलाने के लिए जागृत किया। उन्होंने कहा कि गुन्दयाना गांव के किसान परिवार में जन्म लेने के बावजूद देव स्वामी विद्वता के शिखर तक पहुंचे और सारे भारत में उनकी भविष्यवाणियों को बड़े आदर के साथ पूर्ण होते हुए बहुत सी हस्तियों ने देखा। उन्होंने कहा कि देव स्वामी वेदों के सिद्धांत व नये-नये प्रयोगों का पहले अपने ऊपर प्रयोग करते थे, उसके बाद उनके लाभ जनता को उपलब्ध कराते थे। सच्चे अर्थों में वे एक परोपकारी व अपने आप में चलती फिरती संस्था थे। चौधरी वेद पाल ने दिवंगत पुुण्य आत्मा को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की और परिवार के सदस्यों को इस संकट की घड़ी में हौंसला व शक्ति प्रदान करने की और दिवंगत पुण्य आत्मा को श्री चरणों में स्थान देने की परमपिता परमात्मा से प्रार्थना की।
एनसीपी के हरियाणा सुप्रीमों चौधरी वेद पाल ने गांव रम्बा जाकर शहीद परगट सिंह के परिवार वालों को सांतवना दी और कहा कि शहीद परगट सिंह ने बहादुरी से पाकिस्तान की कायराना हरकत का जवाब देते हुए अपनी जान कुर्बान की है और उनकी कुर्बानी बेकार नहीं जायेगी। उन्होंने पाकिस्तान की बैट फौज पर निशाना साधते हुए कहा कि वह हमारे नौजवानों के साथ धोखे से हमला करके उनका मनोबल नहीं गिरा सकती। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की कि पाकिस्तान को करारा जवाब दिया जाए और रम्बा स्कूल का नाम शहीद परगट सिंह के नाम पर रखा जाए ताकि भावी पीढ़ी उनकी शहादत से प्रेरणा लेती रहे।
एनसीपी के मीडिया प्रभारी व प्रदेश महामंत्री विजय पाल एडवोकेट, प्रदेश महासचिव ओम प्रकाश बक्शी, कार्यालय प्रभारी राधेश्याम गुप्ता, अभिनन्दन पाल, अशोक काम्बोज, सावन आर्य, जगमीत संधू आदि ने भी देव स्वामी व शहीद परगट सिंह के निधन पर अपनी संवेदनाएं प्रकट की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.