May 22, 2024

करनाल के लघु सचिवालय के सामने गत 23 दिन से आमरण अनशन पर बैठे लो मेरिट जेबीटी शिक्षकों का मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आश्वासन पर हाउसिंग बोर्ड हरियाणा के चेयरमैन जवाहर यादव ने अनशनकारी 6 शिक्षकों का जूस पिलाकर अनशन खुलवाया। ज्वाईनिंग का आश्वासन सुनते ही   अनशनकारियों के चेहरे खिल उठे। हरियाणा सरकार किसी भी कर्मचारी व अन्य शिक्षकों के जीवन में अंधकार नहीं आने देगी।
लो मेरिट के कारण नियुक्ति की इंतजार में करनाल लघु सचिवालय के सामने आमरण अनशन पर बैठे 6 शिक्षकों को 23वें दिन शुक्रवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आश्वासन पर  हाउसिंग बोर्ड के चेयरमैन जवाहर यादव ने जूस पिलाया और आश्वासन दिलाया कि शीघ्र ही इन सभी शिक्षकों की नियुक्ति होगी। न्यायालय की अड़चन होने के कारण कुछ देरी हुई है,परन्तु हरियाणा सरकार शिक्षकों के हित में ठोस सबूत न्यायालय के सामने रख रही है ताकि शीघ्र ही लो मेरिट के सभी शिक्षकों को स्कूलों में भेजा जा सके। सरकार की नीयत है कि किसी भी शिक्षक व अन्य कर्मचारी के साथ दोहरी नीति ना हो,प्रदेश की यह पहली सरकार है,जिसने किसी के साथ द्वेष नहीं किया है,इससे पहले मुख्यमंत्री बंसीलाल के भर्ती किये हुए कर्मचारियों को इनेलो ने बाहर का रास्ता दिखाया और इनेलो के भर्ती किये हुए कर्मचारियों को कांग्रेस के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुडडा ने बाहर किया परन्तु मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने किसी भी कर्मचारी को बाहर का रास्ता नहीं दिखाया बल्कि प्रदेश में रोजगार के अवसरों को बढ़ाने के लिए स्कूलों में अध्यापकों व विद्यार्थियों के अनुपात को 1:40 से घटाकर 1:25 किया है,जिससे सभी शिक्षकों के नियुक्ति के रास्ते खुलते है।


चेयरमैन यादव ने उपस्थित सभी अनशनकारियों को कहा कि स्वार्थ से नहीं बल्कि राष्ट्र हित की सोच बनाये, हम सभी को वर्तमान सरकार की नीति को पहचानने की जरूरत है। इस अनशन में विपक्ष के नेताओं ने भी आकर अपनी राजनीतिक रोटियां सेखी है,परन्तु कभी कर्मचारियों के हितों के लिए सोच नहीं बनाई,यह सभी राजनीतिज्ञ केवल आज तक क्षेत्र व वर्गो के लिए काम करते रहे,लेकिन  वर्तमान सरकार हरियाणा एक हरियाणवीं एक के सिद्धांत पर काम कर रही है। इस सरकार में किसी भी रूप में शिक्षकों व अन्य कर्मचारियों के साथ अनदेखी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि दीवाली के तुरंत बाद शिक्षकों की ज्वाईनिंग के लिए सरकार द्वारा कार्यवाही की जाएगी। जो प्रतिनिधि प्रदेश अध्यक्ष राजेन्द्र शर्मा की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री से चंडीगढ़ मिला था,मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया था कि उनके साथ नाजायज नहीं होने दिया जाएगा। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने कहा कि 1259 जेबीटी टीचर के लिए ही नहीं बल्कि 12831 जेबीटी शिक्षकों के साथ हरियाणा सरकार अन्याय नहीं होने देगी।


इस मौके पर अध्यापक संघ के प्रदेशाध्यक्ष राजेन्द्र शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री नेे लो मेरिट शिक्षकों को शीघ्र ज्वाईनिंग करवाने का आश्वासन दिया है। इसके लिए सरकार द्वारा न्यायालय में ठोस प्रमाण प्रस्तुत किये जा रहे है,शीघ्र ही सभी शिक्षकों को न्याय मिलेगा। इसके लिए वह मुख्यमंत्री व उनके प्रतिनिधि चेयरमैन जवाहर यादव के आभारी है। सभी लो मेरिट शिक्षकों की तरफ से हरियाणा सरकार का आभार प्रकट किया तथा अपने साथियों से मुख्यमंत्री के आश्वासन पर आमरण अनशन खत्म करने की अपील भी की। इस मौके पर अध्यापक संघ के अनिल मलिक,पे्रम अहलावत सहित अध्यापक संघ के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
बॉक्स:-कौन-कौन जेबीटी शिक्षक आमरण अनशन पर बैठे
मुख्यमंत्री मनोहर लाल के विधानसभा क्षेत्र करनाल के लघु सचिवालय के सामने 21 सितम्बर से 13 अक्तूबर तक 6 लो मेरिट शिक्षकों ने आमरण अनशन पर बैठे,जिनमें महिला पंकज रानी,कैथल से राजकुमार,कुलदीप,जींद से सोनू कुंडू,भिवानी से बीर सिंह,करनाल से सत्यवान शामिल है। इन सभी को चेयरमैन जवाहर यादव ने अपने हाथों से जूस पिलाकर अनशन खत्म करवाया।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.