Advertisement


जहां एक और पूरे भारत व पूरे हरियाणा व गांव गांव में स्वच्छ मिशन भारत अभियान चलाया हुआ है प्रधानमंत्री व प्रदेश के मुख्यमंत्री जी ने शहर शहर व गांव गांव में सफाई अभियान पूरे जोरों पर चलाया हुआ है वहीं एक ऐसा ही नजारा गांव कालरम की गलियों में देखने को मिला। आजकल गांव कालरम की गलियों में गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। सारी गलियां कूड़ा कबाड़ से अटी पड़ी है। ग्राम पंचायत का इस गंदगी की ओर कोई ध्यान नहीं है। गांव में चार चार सफाई कर्मचारी लगे हुए हैं फिर भी गांव की पूरी तरह से सफाई नहीं हो रही। वार्ड 2 की पंच कविता मराठा ने कहा है कि मेरे वार्ड की सारी नालियां व सडक़ टूटी पड़ी हैं। मेरे वार्ड में गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। गांव का सारा पानी नालियों में भरा रहता है जिसकी वजह से बीमारी और मच्छर फैल रहे हैं। गांव में चार सफाई कर्मचारी होने पर भी मेरे वार्ड में कोई भी सफाई कर्मचारी समय पर नहीं आता। जो भी सफाई कर्मचारी आता है एक महीना या दो महीने के बाद ही वार्ड में सफाई करने के लिए आते हैं। अभी गांव में ग्राम पंचायत ने सौलर टयूबलाईट लगवाई हैं लेकिन मेरे वार्ड 2 में और कालरम डेरे पर कोई टयूब लाईट नहीं लगाई गई। मेरे वार्ड 2 में एक भी टयूब लाईट किसी भी खम्बे पर नहीं लगाई गई और जो भी टयूब लाईट ग्राम पंचायत ने लगवाई है
वह लाईट फिरनी व चौराहे पर नहीं लगवाई गई। इन लाईटें को ग्राम पंचायत ने लोगों के घरों के अंदर लगवाया गया हैं। एक सौलर टयूब लाईट की कीमत ग्राम पंचायत ने 13000 रुपये बताई है, लेकिन टयूब लाईट बिल्कुल नकली, घटिया और हलकी हैं। जो थोड़ी देर जलकर कुछ देर बाद अंधेरा ही अंधेरा छाया रहता है। जिसकी शिकायत पंच कविता मराठा ने डीडीपीओ करनाल व बीडीओ घरौंडा राजेश शर्मा से की लेकिन बीडीओ राजेश शर्मा ने उन शिकायतों को एक कोने में फैंक दिया। फिर इसकी शिकायत मैंने सीएम साहब से की।
सीएम साहब ने उस शिकायत पर कार्रवाई करते हुए मेरी शिकायत को विधायक हरविंद्र कल्याण को सौंप दिया लेकिन उस शिकायत पर भी आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। फिर वार्ड 2 में विकास कार्य करने बारे की शिकायत मैंने 22.11.2017 को सीएम विंडो घरौंडा में लगाई जिसका सीएम ऑफिस नं. 135675 है अब इस पर कार्यवाही होते हुए मूनक बीडीपीओ के पास पहुंंची है। कविता मराठा ने कहा कि देखना यह होगा कि अब इस मामले में मेरे वार्ड 2 में विकास कार्य होंगे या नहीं होंगे।
कविता मराठा ने अधिकारियों को अब कड़ा अल्टीमेटम दिया है कि अब अगर मेरे वार्ड 2 में जल्दी ही विकास कार्य नहीं करवाये गए तो मैं अपना इस्तीफा डीसी करनाल या सीएम को पूरे वार्ड 2 के साथ सौंप दूंगी जिसकी जिम्मेदारी पंचायत अधिकारियों की होंगी।
इस मौंके पर पंच कविता, रेखा, नीलम, बड़ी रीना, रीना, ममता, रोशनी, तृप्ता, बाला, निर्मला, केला, राजबाला उपस्थित थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.