Advertisement


अदालत में जज के सामने आतंकवादी टुंडा पर हमला करने वाले आरोपी जोगद्र को रिमांड पूरा होने के बाद अदालत में पेश किया गया। अदालत ने जोगद्र को न्यायिक हिरासत के तहत जेल भेज दिया है। पुलिस ने जोगद्र से कई घंटे तक पूछताछ की। जोगद्र ने बताया कि अब्दुल करीम टुंडा ने उन्हें गुमराह कर अपने साथ शामिल करने के लिए उकसाया था। इसी रंजिश के तहत की वह उसे मारना चाहता था।

आतंकी अब्दुल करीम टुंडा हमले की गाज कुछ पुलिस वालों पर भी गिरी है। करनाल एस पी रंधावा ने डयूटी पर लापरवाही बरतने पर ईएचसी सतबीर को सस्पेंड किया है साथ एस पी ओ हेमराज व मेहर सिंह को टर्मिनेशन नोटिस जारी किया है।

गाजियाबाद की डासना जेल से करनाल पेशी पर आए आतंकवादी अब्दुल करीम उर्फ टुंडा पर कोर्ट में सोमवार को हमला हुआ था। 30 नवंबर 2016 को करनाल जेल में आतंकी टुंडा पर दो बदमाशों ने गला दबाकर हत्या करने की कोशिश की गई थी। पुलिस ने हमला करने वाले जींद जिले के नगूरा निवासी जो¨गद्र व पंजाब के रहने वाले अमनदीप के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया था। इसी मामले में आतंकी टुंडा को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले की पुलिस करनाल पेशी पर लाई थी। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश डॉ. चंद्रहास की अदालत में टुंडा ने जैसे ही अपने बयान दर्ज कराए तो दूसरी ओर बैठे आरोपी जो¨गद्र ने कोर्ट परिसर में ही उस पर हमला कर दिया। पुलिस ने हमलावर को मौके पर ही काबू कर लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.