हरियाणा के ब्राह्मणों की आवाज उठाने के लिए नौ दिसंबर को करनाल में हरियाणा ब्राह्मण महासम्मेलन का आयोजन

0
Advertisement



करनाल: हरियाणा के ब्राह्मणों की आवाज उठाने के लिए नौ दिसंबर को करनाल में हरियाणा ब्राह्मण महासम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। यह महासम्मेलन पुरानी सब्जी मंडी में होगा। सम्मेलन के आयोजक एवं ब्राह्मण नेता कृष्ण
शर्मा बसताड़ा ब्राह्मणों को न्यौता देने के लिए प्रतिदिन दर्जनों गावों का दौरा कर रहे हैं। शनिवार को कृष्ण शर्मा ने अलीपुर खालसा, बराना, रावर, कैमला, कोहंड, गुढा, घरौंडा, कालरम, चोरा, लालूपुरा, शेखपुरा सुहाना आदि गांवों का दौरा किया।

घर-घर जाकर लोगों से बातचीत की और महासम्मेलन में पूरे परिवार के साथ पहुंचने के लिए आमंत्रित किया।
महासम्मेलन में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डा. अशोक तंवर को बतौर मुख्य अतिथि बुलाया गया है। ब्राह्मणों के हकों को लेकर एक अधिकार पत्र तैयार किया गया है, जिसे महासम्मेलन में अशोक तंवर को सौंपा जाएगा।

Advertisement


कृष्ण शर्मा बसताड़ा ने बताया कि अधिकार पत्र में मुख्य तौर पर मांग रखी जाएगी कि कांग्रेस राष्ट्रीय व प्रदेश स्तर पर ब्राह्मण प्रकोष्ठ का गठन करे। विधानसभा चुनाव में प्रत्येक जिले में एक उम्मीदवार ब्राह्मण समाज से हो। हरियाणा में लोकसभा की दो सीटों पर ब्राह्मण समाज के व्यक्ति को उम्मीदवार बनाया जाए। राज्यसभा में ब्राह्मण समाज की विद्वान शख्सियत को भेजा जाए।

राष्ट्रीय स्तर पर ब्राह्मण कल्याण आयोग का गठन किया जाए तथा ब्राह्मणों की जनसंख्या के आधार पर राजनीतिक नियुक्तियां कांग्रेस करे। कृष्ण शर्मा बसताड़ा ने बताया कि अधिकार पत्र में मुख्य रूप से ईबीपीजी को दोबारा लागू करने की मांग को मुख्य रूप से उठाया जाएगा। कांग्रेस से मांग की जाएगी कि वह ब्राह्मणों को यह कानून बनाने का आश्वासन दे। दोहली व पट्टा को ब्राह्मणों के नाम बिना कानूनी प्रक्रिया के नाम करवाए जाने की मांग रखी जाएगी।

कृष्ण शर्मा बसताड़ा ने बताया कि हरियाणा में 22 प्रतिशत आबादी ब्राह्मणों की है। इस आबादी को आधार बनाकर ब्राह्मण समाज को सभी हक दिए जाने चाहिए। इस अवसर पर अरूण शर्मा करनाल, ब्रजेश कपिल, विनोद शर्मा, सूरज शर्मा, डा. रामदास दाहा, कुलदीप शास्त्री, व अशोक शर्मा दाहा आदि मौजूद रहे।

Advertisement



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.