चौटाला माईक मांगते रह गए लेकिन किसानों ने बोलने के लिए नहीं दिया माईक

0
Advertisement



जीन्द किसानों के धरने पर पहुंचे पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को किसानों ने नहीं दिया बोलने ,चौटाला माईक मांगते रह गए लेकिन किसानों ने बोलने के लिए नहीं दिया माईक

आंदोलन की अगुवाई कर रहे किसान नेता सतबीर पहलवान का कहना जाते जाते चौटाला गुस्से में उसके पांव पर डोगा भी मार गए

Advertisement


जीन्द में किसानों के धरने पर पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला को किसानों ने बोलने का मौका नहंी दिया। ओमप्रकाश चौटाला माईक मांगते रह गए लेकिन किसानों ने बोलने के लिए माईक नहीं दिया।

ओमप्रकाश चौटाला आज किसानों को संबोधित करने के लिए जीन्द के खटकड़ टोल प्लाजा पहुंचे। जब ओम प्रकाश चौटाला ने किसानों केा संबोधित करने के लिए माईक मांगा तो किसान नेताओ ने उन्हें माईक नहीं दिया। ओम प्रकाश चौटाला ने कईं बार माईक मांगा लेकिन किसानों ने माईक नहीं दिया। एक बार तो चौटाला ने यह तक भी कहा कि एक सैंकेण्ड के लिए माईक दे दो लेकिन फिर भी किसानों ने माईक नहीं दिया। गुस्से से भरे ओम प्रकाश चौटाला किसानों के धरने से बैंरग लौटने पर मजबूर हुए। जब मीडिया ने उनका वर्जन लेना चाहा तो चौटाला ने उन पर भी अपना गुस्सा दिखाया। कहा वहां तुम क्यों नहीं बोले, अब यहां आए हो।

उधर आंदोलन की अगुवाई कर रहे किसान नेता सतबीर पहलवान का कहना जाते जाते चौटाला गुस्से में उसके पांव पर डोगा भी मार गए। किसान नेताओं का कहना कि उन्होंने आंदोलन के शुरू से ही यह फैसला लिया हुआ है कि कोई भी राजनेता यहां माईक से नहीं बोलेगा। किसान नेताओं का यह भी कहना है कि अगर हम राजनीतिक आदमियों को माईक देने लेगे तो हजारों राजनीति मेंढ़क यहां कूद जाऐंगे और उनका आंदोलन फेल हो जाएगा।

इनैलो सुप्रीमों ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि किसानों को हम समर्थन देने नहीं जा रहे हैं हमने तो शुरुआत की थी। इंडियन नेशनल लोकदल ने तो शुरुआत से किसानों को समर्थन दे रखा है ! मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि इस आंदोलन में 36 जात के लोग शामिल है ! जो सरकार लोगों में जात पात का जहर घोलने का काम कर रही थी । उस सरकार के मुंह पर तमाचा है । किसान आंदोलन पर बोलते हुए ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि निश्चित तौर पर किसानों की बात को सरकार को मानना होगा । ऐलनाबाद चुनाव पर पार्टी किसको चेहरा बनाएगी इस पर पार्टी फैसला करेगी !





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.