असंध का राजकीय महाविद्यालय संकल्प से सिद्धि का जीता जागता प्रमाण

0
Advertisement

हरियाणा ग्रंथ अकादमी के डिप्टी चेयरमैन और निदेशक प्रो. वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा है कि युवा  सिद्धि ‘ मंत्र के अनुसार न्यू इंडिया के निर्माण के लिए स्वयं को समर्पित करें। वह जयसिंहपुरा आईटीआई परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम में राजकीय महाविद्यालय असंध के विद्यार्थियों और प्राध्यापकों को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता असंध बार एसोसिएशन के पूर्व सचिव और पतंजलि योगपीठ के खंड प्रभारी एडवोकेट नरेंद्र शर्मा ने की।

प्रो.चौहान ने कहा कि असंध में राजकीय महाविद्यालय की स्थापना संकल्प से सिद्धि के मंत्र की सफलता का एक जीता जागता उदाहरण है। कॉलेज की स्थापना के लिए क्षेत्र के लोगों ने संकल्पबद्ध होकर संघर्ष नहीं किया होता तो तीन दशक तक लंबित पड़ी रही कॉलेज स्थापना की मांग पूरी नहीं होती।

ग्रामोदय अभियान के संयोजक प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि कॉलेज की  स्थापना को लेकर अभियान की शुरुआत जनाधिकार चेतना मंच द्वारा आयोजित एक विचार गोष्ठी में आये एक सुझाव के साथ हुई थी। सुझाव को उस बैठक में उपस्थित करीब 5 दर्जन कार्यकर्ताओं ने तत्काल एक संकल्प में परिवर्तित करने का निर्णय ले लिया था। यही संकल्प बाद में एक आंदोलन बना और उस समय की सरकार को राजकीय महाविद्यालय स्थापना करने का निर्णय लेने के लिए मजबूर होना पड़ा था। जब कॉलेज की मांग उठी तो अनेक लोगों ने इसे पूरा न होने वाला सपना कहा था । मगर उसके लिए कायदे से जद्दोजहद हुई तो आज वह सपना हकीकत में तब्दील हो चुका है। कॉलेज के नए भवन के निर्माण के लिए राज्य सरकार द्वारा पर्याप्त मात्रा में धनराशि जारी कर दी गई है और निर्माण कार्य शुरू भी हो चुका है।
भाजपा नेता चौहान ने कहा कि भारत को विश्व की सबसे बड़ी महाशक्ति के रूप में खड़ा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संकल्प से सिद्धि का जो अभियान छेड़ा है उसे भी इसी तर्ज पर कामयाब बनाया जाना है। प्रो.चौहान ने कहा कि आज बहुत लोगों को प्रधानमंत्री का आवाहन और उनके द्वारा तय किया गया लक्ष्य एक सपना लग सकता है । मगर जब सभी देशवासी इस सपने को साकार करने के लिए संकल्प लेकर खड़े हो जाएंगे तो इस सपने को हकीकत में बदलने से कोई रोक नहीं पायेगा।
 विद्यार्थियों के साथ संवाद में प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने कॉलेज की मौजूदा समस्याओं पर भी विस्तार से चर्चा की। विद्यार्थियों ने छात्राओं के लिए बस सुविधा और पेयजल की व्यवस्था में सुधार के संबंध में सुझाव दिए। इस अवसर पर नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष हरबीर सिंह भी मौजूद थे।
Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.