Advertisement


आरोपी कप्तान को गिरफ्तारी के लिए पुलिस जगह-जगह दबिश दे रही थी। काबिलेगौर है कि 8 दिसम्बर को नरेश फ्रैड़स कॉलोनी, राजेश जाणी, गुलाब बस्तली, चांद, मनोज, संदीप उर्फ संजू व अमित गाड़ी में सवार होकर एक शादी समारोह में शिरकत करने जा रहे थे। जैसे ही वे ब्रहानंद चौक पर पहुंचे तो उनकी गाड़ी अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग में नरेश, राजेश व गुलाब की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि चांद व मनोज गंभीर रूप से घायल हो गए। दिनदहाड़े हुए हत्याकांड से शहर में हडक़ंप मच गया था। मामले में सिटी पुलिस ने कप्तान, बिट्टू बैरागी व सात-आठ अन्य पर हत्या, आम्र्स सहित सात गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया था। तब से पुलिस इन आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए जगह-जगह दबिश दे रही थी। सी.आई.ए-1 के इंर्चाज कमलदीप राणा ने बताया कि प्रदीप उर्फ कप्तान पर सरकार ने एक लाख रुपये का ईनाम घोषित कर रखा था। बिती 9 अगस्त को कप्तान ने दिल्ली पुलिस को आत्मसमर्पण कर दिया था। जिससें शुक्रवार को अदालत में पेश किया गया और सात दिन का रिमांड का हासिल किया गया। पुलिस रिमांड के दौरान आरोपी से गहनता से पूछताछ करगी व 8 सिंतम्बर को दोबारा अदातल में पेश करेगी।

8 दिसम्बर को सेक्टर-16 स्थित ब्रहानंद चौक पर हुए ट्रिपल हत्याकांड के मुख्य आरोपी कप्तान ने दिल्ली पुलिस के सामने सरैंडर कर दिया। करनाल पुलिस ने मुख्य आरोपी को पकडऩे के लिए एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया था। हत्यारोपी कप्तान के बिती 9 अगस्त को दिल्ली पुलिस को सरैंडर किया था। पुलिस ने शुक्रवार को कड़ी सुरक्षा के बिच हत्यारोपी को अदालत के सामने पेश किया। जहां से अदालत ने आरोपी को 8 दिन के रिमांड के पर भेज दिया। करनाल पुलिस तब से मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करने में लगी हुई थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.