गो ग्रीन करनाल के नारे को हर गली, मोहल्ले, गाँव व वार्ड तक ले जाने ओर करनाल जिले को हरा भरा बनाने का संकल्प

0
Advertisement

गो ग्रीन करनाल के नारे को हर गली, मोहल्ले, गाँव व वार्ड तक ले जाने ओर करनाल जिले को हरा भरा बनाने के संकल्प के साथ आज सामाजिक संस्था नैशनल इंटेग्रेटेड फ़ोरम आफ आर्टिस्ट्स एंड एक्टिविस्टस (निफ़ा) ने कार्यकर्ता ट्रेनिंग का आयोजन किया व साथ ही बैंक कालोनी के पार्क में छायाधार पौधे लगाकर इस अभियान की शुरुआत की।

करनाल महापौर रेणु बाला गुप्ता के हाथो शुरू हुए आज के अभियान के तहत पहले चरण में लगभग 50 गो ग्रीन करनाल वालंटीयर्स को आने वाले बरसात के मौसम में करनाल में ज़्यादा से ज़्यादा पेड़ लगाने के लिए तैयार किया गया व इसके लिए ज़रूरी तकनीकी जानकारी दी गयी।

Advertisement


यह जानकारी वन विभाग करनाल के ब्लाक वन अधिकारी मोहिंदर सिंह ने दी। नगर निगम करनाल व ज़िला वन विभाग के सहयोग व मर्गदर्शन में शुरू किए गये इस महा अभियान के तहत अगले 15 दिन में करनाल के हर वार्ड व गाँव में 10000 ऐसे कार्यकर्ता तैयार किए जाएँगे जो बारिश के मौसम में हर रोज़ व सामान्य दिनो में हर रविवार को करनाल जिले में पौधे लगाएँगे व उनकी देखभाल भी करेंगे ताकि वे फल फूल सकें ओर करनाल को हरा भरा करने का सपना पूरा हो सके।

अभियान की शुरुआत करते हुए मेयर रेणु बाला गुप्ता ने कहा कि आज आवश्यकता है कि बड़ती गर्मी, ग्लोबल वार्मिंग से छुटकारा पाया जाए व इसके लिए ज़्यादा से ज़्यादा छायाधार पेड़ लगाए जाएँ। उन्होंने निफ़ा द्वारा शुरू किए गये अभियान की प्रशंसा करते हुए उम्मीद ज़ाहिर की कि इस अभियान में हर नागरिक जुड़ेगा।

निगम के उपयुक्त धीरज कुमार ने एक कविता के माध्यम से पैसा कमाने की लालसा में इंसान द्वारा प्रकृति से किए हंस रहे खिलवाड़ पर व्यंग कसा ओर कहा कि अगर हम अभी भी न संभले तो आने वाली पीढ़िया हमें कभी माफ़ नहीं करेंगी। इस क्षेत्र की पार्षद मोनिका गर्ग ने आज अपने जनम दिन पर पार्क में पौधा लगाया व निफ़ा को यह अवसर देने के लिए धन्यवाद किया।

निगम के पूर्व सीनियर डिप्टी मेयर कृष्ण गर्ग ने भी इस कार्य में पूर्ण सह्योग का वायदा किया। निफ़ा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य राजीव मल्होत्रा व हरदीप वालिया को इस परियोजना का निदेशक बनाया गया है।

कल्पना चावला मेडिकल कोलज के लिए वर्ष 2009 में चलाई गयी मुहिम की तरह जन आंदोलन बनेगा गो ग्रीन करनाल प्रोजेक्ट। यह घोषणा करते हुए निफ़ा के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रीतपाल सिंह पन्नु ने कहा कि जिस प्रकार मेडिकल कॉलेज के लिए पूरे करनाल को एक जुट किया गया था उसी प्रकार इस अभियान में भी हर संस्था व आम नागरिकों को शामिल किया जाएगा व इसके लिए अगले रविवार को एक बड़ी बैठक बुलाई जाएगी ताकि पूरा करनाल एक जुट होकर अपने शहर की बेहतरी के इस अभियान से जुड़ सके।

इस अभियान से 10000 गो ग्रीन करनाल वोलनतीयर्स जोड़े जाएँगे व हर कार्यकर्ता को एक विशेष T-shirt दी जाएगी व सदस्यता प्रमाण पत्र दिया जाएगा। बेहतरीन काम करने वाले कार्यकर्ताओं को हर तीन महीने में समीक्षा कर पर्यावरण प्रहरी सम्मान से नवाज़ा जाएगा। पन्नु ने करनाल वासियों से अपील की है कि वे अपने व अपने परिजनों के जनम दिन पर इस अभियान के लिए जनम के वर्ष के बराबर पौधे दान करें।

हर ऐसे व्यक्ति को एक विशेष प्रशस्ति पत्र से उनके घर पर जाकर सम्मानित किया जाएगा व जनम दिन के उपहार स्वरूप एक पौधा भी दिया जाएगा। इसी प्रकार सरकारी व ग़ैर सरकारी नौकरी से रिटायर होने वाले कर्मचारियों से अपनी सेवा अवधि के वर्षों के बराबर पौधे दान करने का आग्रह किया जाएगा। निफ़ा संयोजक एडवोकेट नरेश बराना ने कहा कि जल्दी ही बारिश का मौसम आने वाला है व उस से पहले हमें ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को जोड़ना है ताकि इस समय का भरपूर फ़ायदा उठाया जा सके।

महासचिव प्रवेश गाबा ने भी इस अभियान को महा अभियान बनाने का संकल्प दोहराया। कार्यक्रम में बैंक कालोनी वासियों को अपनी पार्क के सुंदर रख रखाव के लिए पर्यावरण प्रहरी सम्मान दिया गया जो कालोनी की ओर से प्रेम हांडा, कुलज़िंदर मोहन सिंह बाठ, बी आर मदान, सतिंदर सिंह विरक, महेश कठपालिया, संदीप गोयल, एस के सेठी व अन्य ने प्राप्त किया

गो ग्रीन करनाल अभियान की शुरूआत के अवसर पर निफ़ा संयोजक एडवोकेट नरेश बराना, महासचिव प्रवेश गाबा, सह सचिव जसविंदर सिंह बेदी, प्रेस सचिव मनोज गौतम, प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र नरवाल, सलाहकार भूपिंदर सिंह, राष्ट्रीय कार्यकारिणी व कोर ग्रूप से राजीव मल्होत्रा, हरदीप वालिया, कुँवर अमित सिंह, गुरुप्रसाद, सुधीर कुमार, युवा विंग प्रधान हितेश गुप्ता, विश्वास वालिया, यशपाल, मोहित रोहिला, अरविंद संधु, अरुण सिंह रमण, वरुण कश्यप व अन्य उपस्थित रहे।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.