डीएवी पीजी कॉलेज में आयोजित 42 वें जोनल यूथ फेस्टिवल का शुभारंभ

0
Advertisement

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र के युवा एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम विभाग के तत्वाधान में करनाल में एक लंबे अरसे बाद डीएवी पीजी कॉलेज में आयोजित 42 वें जोनल यूथ फेस्टिवल का शुभारंभ कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र के उपकुलपति डॉ.कैलाश चंद्र शर्मा,विशिष्ट अतिथि समाजसेवी एसपी चौहान और कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे कॉलेज के प्राचार्य डॉ. रामपाल सैनी सहित गणमान्य अतिथियों द्वारा विधिवत रूप से मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया गया।

कार्यक्रम में पहुंचने पर मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि का कॉलेज के प्राचार्य डॉ रामपाल सैनी ने पुष्प गुच्छ भेंट कर स्वागत किया।

Advertisement


कार्यक्रम में पधारे सभी अतिथियों और विभिन्न कालेजों के प्रतिनिधियों का स्वागत करते हुए प्राचार्य डॉ. रामपाल सैनी ने कहा कि उनके लिए यह गौरव का विषय है कि एक लंबे अरसे के बाद कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र के तत्वाधान में जोनल यूथ फेस्टिवल की मेजबानी डीएवी कॉलेज कर रहा है। उन्होंने कार्यक्रम की सफलता के लिए सभी से सहयोग की कामना की।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. कैलाश चंद्र शर्मा ने कहा आज की युवा पीढ़ी को अपनी परंपराओं, सामाजिक ताने-बाने और संस्कृति से जोड़ने के लिए सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन करना बेहद आवश्यक है ।उन्होंने कहा कि आज के समय में शिक्षा एक बहुत ही मजबूत हथियार की तरह है जो समाज में फैली कुरीतियों और अव्यवस्थाओं को खत्म करने का काम करती है। डॉ.कैलाश चंद्र ने विद्यार्थियों से अपनी सांस्कृतिक विरासत को संजोए रखने की अपील भी की।

विशिष्ट अतिथि एसपी चौहान ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी को सिनेमा में परोसी जा रही अश्लीलता और फुहड़ता से बचाने की आवश्यकता है। आज युवाओं को भारतीय संस्कृति और परंपराओं से प्रेरणा लेकर राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान देना चाहिए तभी हम एक युवा देश होने का सही दायित्व निभा पाएंगे।

तीन दिवसीय जोनल यूथ फेस्टिवल के प्रथम दिन विभिन्न कॉलेजों की टीमों ने अपनी सुंदर-सुंदर प्रस्तुतियों से दर्शकों का खूब मन मोहा और दर्शकों ने भी खूब ठहाके लगाए। जिनमें विभिन्न कॉलेजों द्वारा कोरियोग्राफी, हरियाणवी संस्कृति का सुंदर चित्रण प्रस्तुत करते नाटक, पॉप सॉन्ग हरियाणवी, माईम, क्लासिकल डांस सोलो, ग्रुप सॉन्ग जर्नल, सोलो डांस हरियाणवी (महिला),सोलो डांस हरियाणवी (पुरुष), संस्कृत ड्रामा, फोक हरियाणवी (सोलो),फोक सोंग जर्नल,लाइट वोकल इंडियन, जोनल यूथ फेस्टिवल के सायंकालीन सत्र की अध्यक्षता कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र के पूर्व उपकुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डीडीएस संधू एवं चौधरी देवीलाल यूनिवर्सिटी सिरसा एवं गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय हिसार के पूर्व उपकुलपति डॉ. राधेश्याम शर्मा ने की। कार्यक्रम में पधारे सभी सम्मानित अतिथियों को प्राचार्य डॉ. रामपाल सैनी ने स्मृति चिन्ह और अंग वस्त्र भेंट कर सम्मानित किया।

इस मौके पर कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के युवा एवं सांस्कृतिक विभाग के निदेशक तेजेंद्र शर्मा, शिशपाल सिंह चौहान सदस्य हरियाणा कला परिषद,सुजाता गुप्ता प्राचार्य केविडीएवी महिला कॉलेज, दयाल सिंह कॉलेज के प्राचार्य डॉ.चन्द्रशेखर, राजकीय महिला महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ.अनुराधा पुनिया, गुरु नानक खालसा कॉलेज की प्राचार्य डॉ.सीमा शर्मा,पं.चिरजीं लाल शर्मा राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय करनाल की प्राचार्या डॉ रेखा शर्मा, सहित विभिन्न कॉलेजों के प्राध्यापकों,सहित,टीम इंचार्ज,कलाकार, व सैकड़ों की संख्या में दर्शक मौजूद रहे।

 ये रहे सांस्कृतिक विधाओं के परिणाम
1.कोरियोग्राफी में आर्य पीजी कॉलेज पानीपत की टीम ने देश में रोज बढ़ रही बलात्कार की घटनाओं पर कटाक्ष करते हुए अपनी प्रस्तुति से प्रथम स्थान प्राप्त किया। वही दूसरे स्थान पर एसडी पीजी कॉलेज पानीपत की टीम रही। केवीडीएवी महिला कॉलेज करनाल की टीम को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ।

2. ग्रुप सॉन्ग जर्नल में सात सुरों की मस्ती पर पवन सी की बेहद सुंदर प्रस्तुति के साथ आर्य पीजी कॉलेज पानीपत ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। गुरु नानक खालसा कॉलेज करनाल की टीम दूसरे स्थान पर रही। राजकीय कन्या महाविद्यालय करनाल की टीम को तीसरा स्थान मिला।

3. फोक सॉन्ग हरियाणवी में गुरु नानक खालसा कॉलेज करनाल की टीम ने प्रथम, एसडी पीजी कॉलेज पानीपत को दूसरा व डीएवी पीजी कॉलेज करनाल को तीसरा स्थान मिला।

4. क्लासिकल डांस सोलो में आर्य पीजी कॉलेज को प्रथम व राजकीय कन्या महाविद्यालय करनाल की टीम ने दूसरा स्थान प्राप्त किया।

जोनल यूथ फेस्टिवल के दूसरे दिन यह होंगे आयोजन:

जोनल यूथ फेस्टिवल के दूसरे दिन 10 अक्टूबर को हरियाणवी स्किट, रसिया ग्रुप डांस, ग्रुप डांस जर्नल, वन एक्ट प्ले, मिमिक्री, ग्रुप सॉन्ग हरियाणवी, इंडियन आर्केस्ट्रा, हरियाणवी सांग, क्लासिकल वोकल सोलो, क्लासिकल इंस्ट्रूमेंटल सोलो, फॉक्स टू मेंटल हरियाणवी विधाएं आयोजित की जाएंगी।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.