लघु सचिवालय स्थित आई.टी. लैब में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया

0
Advertisement

 इलैक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रोद्योगिकी विभाग हरियाणा के सूचना सुरक्षा प्रबंधन कार्यालय (इसमो) ने नैशनल इंस्टीच्यूट ऑफ इलैक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉरमेशन टैक्नोलॉजी (नीलिट) चण्ड़ीगढ़ के सहयोग से बुधवार को लघु सचिवालय स्थित आई.टी. लैब में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें जिला के भिन्न-भिन्न विभागों के आई.टी. से जुड़े कर्मचारियों ने भाग लिया। उपायुक्त एवं जिला इन्फॉरमेशन एंड टैक्नोलॉजी सासाईटी के अध्यक्ष डॉ. आदित्य दहिया ने कार्यशाला का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर जिला सूचना विज्ञान अधिकारी महिपाल सिंह सीकरी व अतिरिक्त जिला सूचना अधिकारी परमिन्द्र सिंह भी उपस्थित थे
 उपायुक्त डॉ. आदित्य दहिया ने इसमो हरियाणा और नीलिट चण्ड़ीगढ़ द्वारा की गई इस पहल की सराहना की। उन्होने उपस्थित कर्मचारियों से कहा कि वे डिजीटल इण्डिया की ओर ध्यान दें तथा डिजीटल पेमेंट को करते समय भीम एप इत्यादि का प्रयोग करें। अपने पासवर्ड को कम्प्यूटर के डैस्कबॉड में सेव करके ना रखें, ताकि किसी तरह की सेक्यॉरिटी लीक ना हो। ऐसा करने से परेशानी खड़ी हो सकती है। उन्होने उपस्थित कर्मचारियों से अपने-अपने सिस्टम मेें एन्टी वायरस इन्स्टाल करने बारे भी सवाल पूछे और कहा कि यह डाउनलोड या लाईसेंसिंग तरीके से कर लेना चाहिए, क्योंकि इससे डाटा सेव रहता है। इसे गम्भीरता से लें और नजर-अंदाज ना करें।
 वर्कशॉप में नीलिट के संयुक्त निदेशक रमिन्द्र सिंह तथा उप निदेशक कुमारी स्वपनिल नायक ने उपस्थित कर्मचारियों को साईबर स्पेस और इलैक्ट्रॉनिक्स उपकरणों को हासिल करने व सुरक्षित रखने के लिए व्याखान दिए और डिजीटल भुगतान को बढ़ावा देने बारे जागरूक किया। उन्होने आई.सी.टी., बुनियादी ढांचे, सूचना प्रणाली और नेटवर्क को प्रभावी ढंग से बनाए रखने पर जोर दिया। साईबर स्पेस के संरक्षण के लिए हरियाणा सरकार के दृष्टिकोण और रणनीति की चर्चा करते हुए उन्होने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य राज्य साईबर सुरक्षा क्षमता का निर्माण करना है। वर्कशॉप में करीब 50 प्रतिभागियों ने भाग लिया।
Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.