Advertisement


पहली पातशाही श्री गुरुनानक देव जी महाराज के प्रकाश उत्सव पर महान नगर कीर्तन निकाला गया। गुरुपर्व प्रबंधक कमेटी द्वारा निकाला गया नगर कीर्तन डेरा कार सेवा से शुरू हुआ और गुरुद्वारा मंजी साहिब से पालकी निकाली गई, जिसमें श्री गुरु ग्रंथ साहिब विराजमान थे। इसकी अगुवाई पांच प्यारे कर रहे थे। आगे-आगे युवाओं द्वारा फूलों की वर्षा की जा रही थी।इसके आगे महिलाएं सडक़ पर झाडू़ लगाकर सफाई करते हुए चली। महिलाओं ने कहा कि गुरु जी ने यहां से निकलना है इसलिए सफाई कर रहे हैं।

स्कूली बच्चे पंजाबी बंड और नन्हें मुन्हें पांच प्यारों की पोशाकों में थे। महिला कीर्तन जत्था कीर्तन करता जा रहा था और श्रद्धालु सतनाम का जाप कर रहे थे। इसके आगे गतका पार्टी ने अपने करतबों का हैरतअंगेज प्रदर्शन किया। जगह-जगह स्टाल लगाए गए थे। ए-वन स्वीटस, सब्जी मंडी यूनियन, स्कूटर मार्केट, करनाल मोटर, गुरुद्वारा माडल टाउन सिंह, विर्क अस्पताल की ओर से भव्य स्वागत किया गया व प्रसाद का वितरण हुआ।  हजारों श्रद्धालुओं ने पालकी के समक्ष नतमस्तक होकर आशीर्वाद लिया।

समाजसेवियों को सिरोपा भेंट किए गए। इस अवसर पर गुरुपर्व प्रबंधक कमेटी के प्रधान ने संगतों का आभार जताया। बाबा सुक्खा सिंह भी श्रद्धालुओं के साथ-साथ चले। नगर कीर्तन ने डेरा कार सेवा में विश्राम लिया।

इस अवसर पर पूर्व विधायक सुमिता सिंह, शशिपाल मेहता, गुरुपर्व प्रबंधक कमेटी के प्रधान बजिंद्र सिंह, इंद्रपाल सिंह, एसजीपीसी के सदस्य भूपेंद्र सिंह असंध, सुरेंद्र पाल सिंह पसरीचा, ओपीएस चोपड़ा, रतन सिंह, मंजी साहिब गुरुद्वारा के प्रधान बलकार सिंह, चेतना जत्था के प्रधान पलविंद्र सिंह खालसा, प्रेम नगर गुरुद्वारा के प्रधान बलविंद्र सिंह संधु, बलदेव सिंह, हरप्रीत सिंह नरूला, जगजीत सिंह, सुरिंद्रपाल सिंह रामगढिय़ा, गुरमीत अखाड़ा के प्रधान जसप्रीत सिंह, दशमेश अखाड़ा के प्रधान गुरतेज सिंह खालसा, बीरखालसा दल के प्रधान सहित बड़ी
संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.