फायर ब्रिगेड की गाडी लेट आने की बात कहकर, फायर कर्मचारियों की धुनाई का मामला आया सामने।

0
Advertisement


शेयर करें।
  • 166
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    166
    Shares

आज असंध के ठरवा माजरा गांव में गेहू के खेती मे लगी आग की सूचना मिलने पर असन्ध से फायर ब्रिगेड की एक गाड़ी जब गाँव पहुची तो गाँव के कुछ युवकों ने ड्राइवर और 2 अन्य कर्मियों को बहुत बुरी तरह पीटा और गाड़ी को अपने कब्जे में ले लिया।

घायल कर्मचारियों में शामिल गुरविंदर, संदीप,ब्रज भूषण तीनो को असंध के नागरिक अस्पताल में दाखिल करवाया गया। फायर ब्रिगेड दफ्तर के कर्मचारी सोमपाल ने कहा कि आग कि सूचना मिलने पर गाड़ी टाइम से लगभग 2 बजे ठरवा गाँव में आग बुझाने के लिए पहुच गई थी और ग्रामीणों ने गाडी के लेट आनी की बात बोल कर उनके ड्राइवर और 2 अन्य गुरविंदर,ब्रिज भूषण को बुरी तरह से पिटाई कर दी।

Advertisement


कर्मचारियों के अनुसार वो किसी तरह अपनी जान बचा कर भागे। पुलिस अधिकारी परिजन और कर्मचारी घायलों का पत्ता लेने अस्पताल पहुचे। मिली जानकारी के अनुसार घायलों को असंध में इलाज के बाद करनाल के कल्पना चावला हॉस्पिटल एक्स रे व ट्रीटमेंट के लिए भेजा गया।

संदीप मान की कमर,छाती में ज्यादा चोटे होने की सूचना मिली है। मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर परिजनों का कहना है कि संदीप का माँस भी फट गया है। इस बारे थाना प्रभारी ने कहा कि जिन लोगो ने भी फायर कर्मियों को मारा हैं। उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। वहीँ परिजन भी कह रहे है कि अगर पुलिस ने उचित कार्यवाही नही की तो वो पुलिस अधीक्षक से भी मिलेंगे।

यूनियन का कहना है कि कर्मचारी समय पर अपरी डयूटी के तहत कार्य करने पहुंचे थे, लेकिन उन पर हमला कर घायल कर दिया गया है। यूनियन के प्रधान विजय कुमार ने कहा कि सूचना मिलने पर फायरब्रिगेड की गाड़ी 15 मिनट में गांव में पहुंच गई थी। यहां ग्रामीणों ने बिना किसी वजह फायरकर्मियों को रोक कर हमला कर दिया। हमले में घायल कर्मचारियों में ड्राइवर संदीप मान, फायरमेन ब्रजभूषण और फायरमेन गुरविंद्र शामिल हैं। यूनियन ने आरोपी लोगों के खिलाफ शीघ्र और स त कार्रवाई की मांग की है। कहा गया है कि अगर त्वरित कार्रवाई नहीं की गई तो फायरकर्मी काम ठप्प करने के लिए मजबूर हो जाएंगे।


शेयर करें।
  • 166
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    166
    Shares
Advertisement









LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.