March 3, 2024


घरौंडा विधानसभा की यमुना बेल्ट के विकास में एक महत्वपूर्ण अध्याय जुड़ गया है। विधायक हरविंदर कल्याण के लंबे समय से चल रहे प्रयासों को आख़िरकार अब रंग लगा है जब घरौंडा विधानसभा के यमुना क्षेत्र के गाँवों के लिए नई आईटीआई की उनकी पुरानी माँग को भी प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंज़ूरी दे दी है।

ग़ौरतलब है कि वर्ष 2018 में घरौंडा के साथ लगते गाँव बसताडा की नेशनल हाईवे पर स्थित पंचायती ज़मीन पर नई आईटीआई का निर्माण हुआ था जिससे घरौंडा क्षेत्र के युवाओं को काफ़ी लाभ हुआ है। विधायक कल्याण ने बताया कि अब यमुना क्षेत्र के साथ लगते गाँवों के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नई आईटीआई को भी मंज़ूरी दे दी है जो कि कुंजपुरा ब्लॉक के गाँव नली खुर्द की पंचायती ज़मीन पर स्थापित की जाएगी।

उन्होंने कहा कि नई आईटीआई बनने के बाद यमुना क्षेत्र के युवाओं को भी बहुत लाभ होगा जिसके लिए उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि घरौंडा विधानसभा अन्य सरकारों के समय में लगातार उपेक्षा का शिकार रहा है तथा जब से प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी है तभी से मुख्यमंत्री मनोहर लाल के कुशल नेतृत्व में पूरे क्षेत्र का अभूतपूर्व विकास हुआ है।

विधायक कल्याण ने कहा कि घरौंडा विधानसभा का यमुना नदी के साथ लगता पूरा क्षेत्र जो कि बहुत पिछड़ा हुआ था उसके विकास पर भाजपा सरकार आने के बाद से विशेष फ़ोकस रखा गया है तथा पिछले वर्षों में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आशीर्वाद से यमुना क्षेत्र के गाँवों का शिक्षा, स्वास्थ्य व नई सड़कों सहित काफ़ी विकास हुआ है।

यमुना क्षेत्र के बहुत से स्कूलों को बारहवीं कक्षा तक अपग्रेड किया गया है तथा पिछले वर्षों में बनाई गई पाँच नई पीएचसी में से चौरा, बरसत व मिरगैन गाँवों में बनीं पीएचसी का लाभ सीधे तौर पर यमुना क्षेत्र के लोगों को ही होगा।

विधायक कल्याण ने कहा कि वो पूरे विधानसभा क्षेत्र के समान विकास तथा क्षेत्र के लोगों को हर संभव सुविधा उपलब्ध कराने के लिए वचनबद्ध हैं तथा मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आशीर्वाद से जहां घरौंडा विधानसभा का पिछले नौ वर्षों में अभूतपूर्व विकास हुआ है वहीं आने वाले समय में भी विकास की गति को बरकरार रखा जाएगा।

उन्होंने कहा कि जल्द ही नई आईटीआई के निर्माण की प्रक्रिया को लेकर संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की जाएगी ताकि इस कार्य को तेज़ी से आगे बढ़ाया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.