March 3, 2024


जिला पुलिस करनाल की सीआईए वन की टीम द्वारा चार ऐसे आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। जिन्होने दिनांक 28 दिसम्बर 2022 को थाना शहर के एरिया मीरा घाटी चौक के पास रात के समय एक व्यक्ति के साथ मारपीट करके उससे छीना झपटी की वारदात को अंजाम दिया था। इस संबंध में कल दिनांक 16 मार्च 2023 को उप निरीक्षक नरेश कुमार सीआईए वन की अध्यक्षता में टीम द्वारा चार आरोपी

1. जितेन्द्र कुमार उर्फ दीपक पुत्र धनंजय परधार
2. सुशील कुमार पुत्र पन्नालाल विश्वास
3. सूरज कुमार पुत्र रामनाथ विश्वास वासियान गांव गेरिया जिला कटिहार बिहार व
4. महेश कुमार पत्रु गिरधारी दास गांव दंडखोरा जिला कटिहार बिहार हाल किराएदार करनाल

को विश्वसनीय सूचना पर सेक्टर-12 करनाल से गिरफ्तार किया गया। आरोपियों के कब्जे से वारदात में छीना गया मोबाइल फोन बरामद किया गया है। आरोपियों से पूछताछ में जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी वारदात को अंजाम देने से कुछ दिन पहले ही काम की तलाश में बिहार से करनाल आए थे। आरोपी काम की तलाश में फिर रहे थे, लेकिन आरोपियों को कहीं काम नही मिला। जिसके बाद आरोपियों ने एक दिन किसी व्यक्ति के साथ लूटपाट करने की योजना बनाई।

पूर्व नियोजित तरीके से आरोपियों ने दिनांक 28 दिसम्बर 2022 को रात के सयम करीब 11ः30 बजे मीरा घाटी चौक पर शिकायतकर्ता इन्द्र कुमार के साथ मारपीट करके उससे उसका मोबाइल फोन व करीब दो हजार रूप्ये छीनकर मौका से फरार हो गए।

इस वारदात के संबंध में शिकायतकर्ता इन्द्र कुमार पुत्र किशोरी दास वासी नवाब छता कलन्दरी गेट करनाल ने दिनांक 28 दिसम्बर 2022 को थाना शहर में शिकायत दी। जिसमें उसने बताया कि वह उपरोक्त पते पर किराये के मकान में पिछले करीब पांच वर्ष से रह रहा है और जाफरान होटल में काम करता है।

उसी दिन रात के समय वह काम खत्म करके अपने घर जा रहा था। जब वह करीब 11ः30 बजे मीरा घाटी चौक के पास पंहुचा तो उसी समय चार अज्ञात लडको ने उसको रूकवाकर उसके सिर में डंडा मारा और उसके साथ मारपीट करके उससे उसका पर्स व मोबाइल फोन छीना झपटी की वारदात को अंजाम दिया था।

इस संबंध में थाना शहर में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 379बी आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया। आरोपियों को आज पेश अदालत करके न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.