June 24, 2024

राहुल गांधी की यात्रा के बाद BJP की गिरी पहली विकेट, कांग्रेस में शामिल हुए सतीश राणा कैरवाली ने BJP के प्रति निकाली सालों की भड़ास – Share Video

भाजपा में किसान सैल के प्रदेश उपाध्यक्ष रहे सतीश राणा कांगे्रस में शामिल हो गए हैं। उन्होंने चंडीगढ़ में नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष उदयभान के नेतृत्व में चंडीगढ़ जाकर कांग्रेस ज्वाइन की। शनिवार को पूर्व विधायक सुमिता सिंह, राष्ट्रीय सचिव वीरेंद्र राठौर, करनाल जिला संयोजक त्रिलोचन सिंह, वरिष्ठ नेता रघबीर संधु, पूर्व जिला प्रधान अशोक खुराना, पार्षद पप्पू लाठर, कृष्ण शर्मा बसताड़ा, हरीराम साबा, नैनपाल राणा, जसवंत सिंह व जागीर सैनी द्वारा सतीश राणा का पार्टी में शामिल होने पर स्वागत किया गया। वरिष्ठ नेताओं ने सतीश राणा को पार्टी में पूरा मान-सम्मान दिए जाने की बात कही।

बातचीत करते हुए सतीश राणा ने भाजपा की करनाल इकाई पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने विधायक हरविंद्र कल्याण को बदतमीज करार दे दिया। सतीश राणा ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को ईमानदार बताया। उन्होंने कहा कि भाजपा में मान-सम्मान न मिलने की वजह से उनका दम घुंट रहा था, इसलिए वह कांग्रेस में शामिल हुए हैं। सतीश राणा ने कहा कि वह 30 साल के थे जब उन्होंने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन की थी। 18 सालों तक पार्टी की सेवा की। पिछले काफी समय से वह उपेक्षा का शिकार हो रहे थे।

सवालों के जवाब देते हुए कहा कि  उन्होंने कांग्रेस पार्टी में आस्था कांग्रेस की नीतियों से प्रेरित होकर जताई है। कोई एग्रीमेंट नहीं किया है। चुनाव को लेकर टिकट भी अभी कोई मुद्दा नहीं है। वह राजनीति के माध्यम से जनसेवा करना चाहते हैं। मान-सम्मान चाहते हैं।

सतीश राणा ने कहा कि हरियाणा में आने वाला समय कांग्रेस का है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा मुख्यमंत्री बनेंगे। भूपेंद्र हुड्डा हर वर्ग की आवाज है। वर्तमान में वही कांगे्रस के मसीहा हैं। हुड्डा 10 साल हरियाणा के मुख्यमंत्री रहे और इस दौरान हरियाणा का चहुंमुखी विकास हुआ।

कांग्रेस नेताओं ने करनाल गौशाला में 45 गायों की मौत के लिए हरियाणा गौशाला आयोग के चेयरमैन को जिम्मेदार ठहराते हुए उनके इस्तीफ की मांग की है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार की कथनी और करनी में भारी अंतर है। जिस गौशाला में एक हजार गायों की व्यवस्था हो, वहां दो हजार से ज्यादा गायों को रखा जा रहा है। गीता और गाय की बात करने वाली भाजपा सरकार गायों की मौत की जिम्मेवार है। गौशाला आयोग के चेयरमैन नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दें।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.