देश की 1.34 बिलियन जनसंख्या को न्यूट्रीशनल सिक्योरिटी के साथ भरपेट भोजन देना एक चुनौती : डा. श्रीवास्तव

0
Advertisement


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

एनडीआरआई में आयोजित एक समारोह में वैज्ञानिक चयन मंडल बोर्ड के अध्यक्ष डा. एके श्रीवास्तव को डा. डी. सुंदरेशन अवार्ड प्रदान किया गया। इस अवसर पर डा. श्रीवास्तव ने “देश की 1.34 बिलियन जनसंख्या को न्यूट्रीशनल सिक्योरिटी के साथ भरपेट भोजन उपलब्ध करवाना-एक चुनौती” विषय पर व्याख्यान प्रस्तुत किया।

डा. श्रीवास्तव ने कहा कि वर्ष 1947 में जहां भारत में फूड की कमी थी, जिसकी वजह से फूड बाहर से मंगवाना पड़ता था, लेकिन अब हमें गर्व है कि हम अपना पेट भरने के साथ साथ विदेशों में भी आनाज का निर्यात कर रहे हैं। इस उपब्लिधी में किसानों, वैज्ञानिकों तथा पोलिसी निर्माताओं को अहम योगदान है। लेकिन वर्ष 2050 में जब भारत की जनसंख्या चीन की जनसंख्या से भी ज्यादा हो जाएगी, उस समय 450 मिलियन टन फूड ग्रेनस की जरूरत होगी, जोकि वर्तमान 277.48 मिलियन टन है।


Advertisement



इसलिए हमें अपने आप को इतना सक्षम बनाना होगा, ताकि हम इतनी बड़ी जनसंख्या का पेट भर सकें। उन्होंने कहा कि खाद्य सुरक्षा तब होती है जब सभी लोगों के पास शारीरिक और आर्थिक रूप से पर्याप्त मात्रा में पौष्टिक भोजन उपलब्ध होगा। घटती जोत के मद्देजनर हमें उत्पादन की दर को 40 प्रतिशत बढ़ाना होगा।

बच्चों में कुपोषण की गंभीर समस्या

बच्चों में कुपोषण दुनियां की गंभीर समस्याओं में से एक है। दुनिया भर में 5 वर्ष से कम उम्र के 32 प्रतिशत बच्चे अंडरवेट हैं। विकासशील देशों की बात करें तो भारत में 42 प्रतिशत बच्चे अंडर वेट हैं, जबकि वियतनाम में 33 प्रतिशत, पाकिस्तान में 31 प्रतिशत हैं, जोकि पूरक आहार न मिलने के कारण है। इस समस्या से निपटने के लिए सबसे पहले बच्चे को जन्म के छह महीने तक मां का दूध पिलाना सुनिश्चित करना होगा, क्योंकि मां के दूध में वो सभी न्यूट्रीएंट्स मौजूद होते हैं, जिनकी शिशु को जरूरत होती है।



डा. सुंदरेशन के नेतृव्य में विकसित हुई थी गाय की दो नस्लें 

संस्थान के निदेशक डा. आरआरबी सिंह सहित अन्य वैज्ञानिकों ने डा. डी. सुंदरेशन को श्रद्घांजलि दी और बताया कि डा. सुंदरेशन के नेतृव्य में संस्थान में करण स्विस और करण फ्रीज नामक गाय की नस्ल को विकसित किया था। उन्होंने माननीय वक्ता (डा. श्रीवास्तव ) का प्रशस्ति पत्र पढ़ कर सुनाया तथा उनको डा. सुंदरेशन स्मारक व्याख्यान पुरस्कार प्रदान किया। इस अवसर पर संयुक्त निदेशक अनुसंधान डा. बिमलेश मान, डा. एसके. तोमर तथा अन्य वैज्ञानिकगण ह्यउपस्थित रहे।

10 मार्च को होगा दीक्षांत समारोह

संस्थान के निदेशक डा. आरआरबी सिंह ने बताया कि आगामी 10 मार्च को एनडीआरआई में दीक्षांत समारोह का आयोजन किया जाएगा। इसमें केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह मुख्य अतिथि के तौर पर शिकरत करेंगे। इस दौरान संस्थान के विभिन्न संकायों करीब 250 विद्यार्थियोंं को डिग्रीयां प्रदान की जाएंगी।


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Advertisement









LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.