समान विकास करवाना मुख्यमंत्री की सोच-हरियाणा एक-हरियाणवी का नारा सार्थक सोच का परिचायक।

0
Advertisement



मुख्यमंत्री के ओएसडी अमरेन्द्र सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा सरकार ने आमजन के लिए बिजली, पानी और सडक़ जैसी मूलभूत सुविधाओं मेें विस्तारीकरण के दृष्टिगत कई अहम कदम उठाए है। लोगों का कहना है कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल विकास के कार्यों को लेकर किसी से भेद-भाव नहीं करते। मुख्यमंत्री की यह शैली जनता में चर्चा का सार्थक विषय बनी हुई है। लोग मुख्यमंत्री को सामाजिक सोच का धनी व्यक्तित्व मानते हैं।
ओएसडी ने कहा कि वर्तमान सरकार के पिछले लगभग एक हजार दिनों के कार्यकाल में कुण्डली-मानेसर-पलवल(केएमपी)एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य पुन: शुरू करवाने के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में 1580 कि मी सडक़ें चौड़ी करने के  कार्य क ो भी गति प्रदान की गई है। यही नहीं प्रदेश मेें यातायात व्यवस्था को सुगम और सुचारू बनाने के दृष्टिगत 14 रेलवे ओवरब्रिज तथा 12 रेलवे अन्डरब्रिज भी तैयार करवाए गये है। इसके अतिरिक्त 25 आरओबी व आरयूबी पर कार्य तेजी से चल रहा है। करनाल में भी लगभग 57 करोड़ रूपये की लागत से 6 किलोमीटर लम्बे और दस मीटर चौड़े पश्चिमी यमुना बाईपास का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। इन सब विकासशील कार्यों के पूरा होते ही प्रदेश के लोगों का यातायात में व्यय होने वाले अधिक समय की बचत तो होगी ही और साथ में सुदृढ़ आधारभूत संरचना भी मिलेगी ।
ओएसडी ने बताया कि इसी प्रकार बिजली सुधार के क्षेत्र में भी वर्तमान सरकार द्वारा कई अहम फै सले लिए गये  । म्हारा गांव-जगमग गांव योजना के तहत प्रदेश के 507 गावों में 24 घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है। प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में 92 नए सब-स्टेशन स्थापित किए गये है तथा 325 सब -स्टेशनों की क्षमता मे वृद्धि का महत्वपूर्ण कार्य भी किया गया है। उपभोक्ताओं की शिकायत के निवारण हेतू ऑनलाईन पोर्टल की शुरूआत भी की गई है। इसके अतिरिक्त बिजली सुधार के कार्यों को आगे बढ़ाते हुए 5665 कि.मी लम्बी नई लाईनें बिछाने के साथ-साथ  55936 नए ट्रांसफार्मर लगाए भी लगाए गए हैं।
पेयजल आपूर्ति के क्षेत्र में सरकार द्वारा करवाए गए कार्यों के संदर्भ में जानकारी देते हुए ओएसडी ने बताया कि ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में 171 नहर आधारित तथा 45 नलकूप आधारित जलघर स्थापित करवाए गए हैं। इसके अतिरिक्त प्रदेश के 643 गांवों में पेयजल सुविधा में सुधार एवं बढ़ौतरी की गई है। ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में 6236 कि०मी० लम्बी नई पाईप लाईनें भी बिछाई गई है। इसी प्रकार 1468 नलकूप तथा 365 बूस्टिंग स्टेशन भी शुरू किए गए हैं। प्रदेश में बेहत्तर सीवरेज सिस्टम तथा बरसाती पानी की निकासी के लिए अनेक  परियोजनाओं पर कार्य तेजी से चल रहा है।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.