Advertisement


महानिरीक्षक यातायात एवं राजमार्ग पुलिस हरियाणा श्री संजय कुमार की प्रेरणा से सचिव आर.टी.ए. करनाल के सानिध्य में आर.पी.आई.आई.टी. बसताड़ा के प्रेक्षागृह में सड़क सुरक्षा चेतना यात्रा २०१७ अभियान के तहत नाट्य प्रस्तुति एवं विमर्श का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि आई.ए.एस. अधिकारी श्री इमरान रजा ने  कार्यक्रम के आरंभ मंे चित्रकला के प्रतिभागियों में नितेश को प्रथम राधिका को द्वितीय एवं प्रियंका को तृतीय पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए श्री इमरान रजा ने कहा कि हरियाणा की सड़कों पर प्रतिदिन बढ़ती सड़क दुर्घटनाएं चिंता का विषय है।

उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक युग में आत्मघाती व्यवहार दुर्घटना की बड़ी वजह है। उन्होंने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि डइविंग एक ऐसा कौशल है जिसके बेहतर संचालन से विकास की रफ्तार में वृद्धि होती है। उन्होंने कहा कि अब हर  शैक्षणिक संस्थान में ट्ैफिक नालेज संेटर भी स्थापित किया जाना चाहिए। विमर्श में हिस्सा लेते हुए जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती सरोज बाला गुर ने कहा कि बचपन में किताबों की जगह सड़क हादसे ने सिहरन पैदा कर दी है। ऐसे में व्यापक अभियान से इस विभिषिका से निजात पाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सभी शिक्षण संस्थाओं में रोड सेफ्टी क्लब का गठन किया जाना सार्थक पहल है। जिला न्यायवादी हरियाणा पुलिस अकादमी मधुबन के जिला न्यायवादी श्री राजेश चौधरी ने कहा कि पुलिस बल की तत्परता के साथ-साथ सड़क सुरक्षा नागरिक दायित्व का संस्कार बनेगा तभी दुर्घटना मुक्त हरियाणा का सपना साकार होगा। उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटना में सर्वाधिक युवा वर्ग ही मृत्यु का शिकार है। कार्यक्रम में विशेष रूप से हिस्सा लेते हुए पानीपत से आयी प्रख्यात चिकित्सक एवं सामाजिक कार्यकर्ता डा. अर्चना गुप्ता ने कहा कि सड़क दुर्घटना का मूल कारण सड़क पर फैली अराजकता है। उन्होंने विस्तार से विकसित राष्टों का उदाहरण देते हुए कहा कि किस प्रकार विदेशों में तकनीकि का इस्तेमाल करके सड़क की दुनिया को सुगम और सुरक्षित ढंग से संचालित किया जा रहा है। कार्यक्रम में स्वागत करते हुए निदेशक डा. सौरभ गुप्ता ने कहा कि हमारे परिसर में युवा वर्ग को दुर्घटना के विविध कारणों का अध्ययन दुर्घटना शून्य हरियाणा को संभव बनाने में हमारे परिसर के विद्यार्थियों की वृहत्तर भूमिका सुनिश्चित होगी। अध्यक्षता करते हुए डा. भरत सिंघल ने कहा कि हमारा परिसर हाइवे पर स्थित एक ऐसा परिसर है जिसके लिए सड़क सुरक्षा एक बड़ा मसला है। ऐसे में हमने यह तय किया है कि पानीपत टोल प्लाजा से लेकर नतस्ते चौक तक रोड सेफ्ती आडिट करके सडक सुरक्षा परिसर हरियाणा को रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। कार्यक्रम में आये अतिथियोां का धन्यवाद ज्ञापन करते हुए सहायक सचिव आर.टी.ए.श्री राजकुमार राणा एवं निरीक्षक श्री जोगेन्द्र ढुल ने कहा कि नाबालिक विद्यार्थियों के हाथ में भारी वाहन देकर अभिभावक नई पीढ़ी को मौत के दरवाजे पर भेज रहे है ऐसे में समाज के हर वर्ग से विनर्म अपील है कि नाबालिक हाथों में जिन्दगी को खिलौना बना देने की मशीन न दे। इस अवसर पर शुरूआत समिति के रंगकर्मियों ने श्रीमती रीटा रंजन के निर्देशन में मै समय हूं….एवं यमराज जीवन दान योजना का जीवन्त मंचन किया।

ीजजचरूध्धंतदंसइतमंापदहदमूेण्बवउध्चवसपजपबेधंतदंस.रइज.जमंबीमत.बंससमक.विि.ेजतपामध्प्रेस नोट
सडक सुरक्षा कार्यशाला में चित्रकला, विमर्श एवं नाटक का हुआ मंचन
सड़क सुरक्षा चेतना यात्रा पहुंची आर.पी.आई.आई.टी बसताड़ा
महानिरीक्षक यातायात एवं राजमार्ग पुलिस हरियाणा श्री संजय कुमार की प्रेरणा से सचिव आर.टी.ए. करनाल के सानिध्य में आर.पी.आई.आई.टी. बसताड़ा के प्रेक्षागृह में सड़क सुरक्षा चेतना यात्रा २०१७ अभियान के तहत नाट्य प्रस्तुति एवं विमर्श का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि आई.ए.एस. अधिकारी श्री इमरान रजा ने  कार्यक्रम के आरंभ मंे चित्रकला के प्रतिभागियों में नितेश को प्रथम राधिका को द्वितीय एवं प्रियंका को तृतीय पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए श्री इमरान रजा ने कहा कि हरियाणा की सड़कों पर प्रतिदिन बढ़ती सड़क दुर्घटनाएं चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक युग में आत्मघाती व्यवहार दुर्घटना की बड़ी वजह है। उन्होंने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि डइविंग एक ऐसा कौशल है जिसके बेहतर संचालन से विकास की रफ्तार में वृद्धि होती है। उन्होंने कहा कि अब हर  शैक्षणिक संस्थान में ट्ैफिक नालेज संेटर भी स्थापित किया जाना चाहिए। विमर्श में हिस्सा लेते हुए जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती सरोज बाला गुर ने कहा कि बचपन में किताबों की जगह सड़क हादसे ने सिहरन पैदा कर दी है। ऐसे में व्यापक अभियान से इस विभिषिका से निजात पाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सभी शिक्षण संस्थाओं में रोड सेफ्टी क्लब का गठन किया जाना सार्थक पहल है। जिला न्यायवादी हरियाणा पुलिस अकादमी मधुबन के जिला न्यायवादी श्री राजेश चौधरी ने कहा कि पुलिस बल की तत्परता के साथ-साथ सड़क सुरक्षा नागरिक दायित्व का संस्कार बनेगा तभी दुर्घटना मुक्त हरियाणा का सपना साकार होगा। उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटना में सर्वाधिक युवा वर्ग ही मृत्यु का शिकार है। कार्यक्रम में विशेष रूप से हिस्सा लेते हुए पानीपत से आयी प्रख्यात चिकित्सक एवं सामाजिक कार्यकर्ता डा. अर्चना गुप्ता ने कहा कि सड़क दुर्घटना का मूल कारण सड़क पर फैली अराजकता है। उन्होंने विस्तार से विकसित राष्टों का उदाहरण देते हुए कहा कि किस प्रकार विदेशों में तकनीकि का इस्तेमाल करके सड़क की दुनिया को सुगम और सुरक्षित ढंग से संचालित किया जा रहा है। कार्यक्रम में स्वागत करते हुए निदेशक डा. सौरभ गुप्ता ने कहा कि हमारे परिसर में युवा वर्ग को दुर्घटना के विविध कारणों का अध्ययन दुर्घटना शून्य हरियाणा को संभव बनाने में हमारे परिसर के विद्यार्थियों की वृहत्तर भूमिका सुनिश्चित होगी। अध्यक्षता करते हुए डा. भरत सिंघल ने कहा कि हमारा परिसर हाइवे पर स्थित एक ऐसा परिसर है जिसके लिए सड़क सुरक्षा एक बड़ा मसला है। ऐसे में हमने यह तय किया है कि पानीपत टोल प्लाजा से लेकर नतस्ते चौक तक रोड सेफ्ती आडिट करके सडक सुरक्षा परिसर हरियाणा को रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। कार्यक्रम में आये अतिथियोां का धन्यवाद ज्ञापन करते हुए सहायक सचिव आर.टी.ए.श्री राजकुमार राणा एवं निरीक्षक श्री जोगेन्द्र ढुल ने कहा कि नाबालिक विद्यार्थियों के हाथ में भारी वाहन देकर अभिभावक नई पीढ़ी को मौत के दरवाजे पर भेज रहे है ऐसे में समाज के हर वर्ग से विनर्म अपील है कि नाबालिक हाथों में जिन्दगी को खिलौना बना देने की मशीन न दे। इस अवसर पर शुरूआत समिति के रंगकर्मियों ने श्रीमती रीटा रंजन के निर्देशन में मै समय हूं….एवं यमराज जीवन दान योजना का जीवन्त मंचन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.