Advertisement


सिविल सर्जन डा0 योगेश शर्मा ने सोमवार को माल रोड़ स्थित अपने कार्यालय में प्रसव पूर्व निदान तकनीक अधिनियम के तहत गठित जिला सलाहकार समिति की मासिक बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि जिले में अगस्त 2017 के अनुसार लिंगानुपात एक हजार लडकों के अनुपात में लड़कियों की संख्या 925 तक है और वह दिन दूर नहीं जब यह आंकड़ा एक हजार होगा।
सीएमओ ने कहा कि अल्ट्रासाउंड से लिंग की जांच करवाकर भू्रण हत्या करने वाले की जानकारी देने वाले को एक लाख रूपये ईनाम के रूप में दिए जाएंगे तथा सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा। सभी के सहयोग से जिले में लिंगानुपात में सुधार हो रहा है और इस दिशा में अधिक मेहनत करने की जरूरत है। बैठक में इन्द्री के देव नर्सिंग होम में अल्ट्रासाउंड के नए पंजीकरण तथा  घरौंडा में कैमला मोड पर स्थित लाईफ लाईन अस्पताल  में अल्ट्रासांउड हेतू नए ऑपरेटर रखने के लिए शपथ पत्र जमा करवाने उपरांत स्वीकृति देने का फैसला लिया गया।
इसी प्रकार करनाल के मित्तल छाती एवं हृद्य रोग अस्पताल में इकोकॉर्डियोग्राफी की नई मशीन स्थापित करने तथा आईटीआई चौक के नजदीक अमृतधारा अस्पताल में खराब अल्ट्रासांउड मशीन को निपटाने की प्रक्रिया को स्वीकृति प्रदान की गई।
इस अवसर पर परिवार कल्याण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी एवं उप सिविल सर्जन डा0 राजेन्द्र ने कहा कि प्रसव पूर्व निदान तकनीक अधिनियम को जिले में पूरी तरह लागू करने में जनता से भी सहयोग की अपेक्षा रहती है, इसलिए लिंग जांच के संबंध में किसी भी व्यक्ति को कोई भी सूचना मिलने पर स्वास्थ्य विभाग को बताएं। इस अवसर पर कमेटी के सदस्यों में डिप्टी डीए कुलदीप सिंह, डा0मुनीष पुरूथी, डा0 संगीता अबरोल,एनजीओ से उषा शर्मा, नूतन, हिन्दराज सहित कमेटी के सभी सदस्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.