करनाल योग शिक्षकों व साधकों को किया गया सम्मानित ,देखें पूरी खबर

0
Advertisement


शेयर करें।
  • 49
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    49
    Shares

करनाल योग कक्षा श्रीकृष्ण कृपा धाम सेक्टर नौ के योग शिक्षकों और साधकों को आज सम्मानित किया गया ! मुख्य शिक्षक दिनेश गुलाटी ने अपने सहयोगी शिक्षक सुरिंद्र नारंग, योग शिक्षिका स्वदेश मदान और निधि गुप्ता सहित योग कक्षा श्रीकृष्ण कृपा धाम सेक्टर नौ में शिरकत की !

Advertisement


इस योग कक्षा को योग शिक्षक राजिंद्र पपनेजा, योग शिक्षिका शिवानी कांबोज व उषा चानना पिछले सवा साल से जा रहे हैं। इनका साथ देने वाले साधकों में अंकज गोयल, विमल नारंग, गोपाल कृष्ण शर्मा, बीआर चानना शामिल हैं।

योग के प्रति लगन को देखते हुए योग कक्षा के मुख्य शिक्षक दिनेश गुलाटी ने उन्हें स्मृति चिह्न तथा योग पुस्तिका देकर सम्मानित किया। नन्हीं बच्ची आराध्या को योग कक्षा में मनाए जाने वाले त्यौहार जैसे 15 अगस्त, 26 जनवरी, जन्माष्टमी आदि में प्रतिभागिता करने पर मोमेंटो दिया।

विशेष रूप से यूएसए से आए अश्वनी सहगल को योगा बैग देकर सम्मानित किया। उन्होंने तीन दिन इस योग कक्षा को ज्वाइन किया और उन्होंने बताया कि योग से तीन दिनों में ही पेट सख्त से नरम हो गया। उन्होंने योग कक्षा के मुख्य शिक्षक दिनेश गुलाटी को योग के प्रचार व प्रसार के लिए यूएसए में एक योग शिविर लगाने के लिए आमंत्रित किया।

इससे पहले योग शिक्षक राजिंद्र पपनेजा ने योङ्क्षगग जोगिंग, सूक्ष्म व्यायाम व आसनों का अभ्यास करवाया। मुख्य योग शिक्षक दिनेश गुलाटी ने योग और प्राणायाम की क्रियाएं करवाते हुए कहा कि सांस का नियंत्रण और विस्तार करना ही प्राणायाम है।

सांस लेने की उचित तकनीकों का अभ्यास, रक्त और मस्तिष्क को अधिक आक्सीजन देने के लिए अंतत: प्राण या महत्पूर्ण जीवन उर्जा को नियंत्रित करने में मदद करता है। योग आसन और प्राणायाम का संयोग शरीर और मन के लिए शुद्धि और आत्म अनुशासन का उच्चतम रूप है। प्राणायाम से हम ध्यान का एक गहरा अनुभव प्राप्त कर सकते हैं।

इस अवसर पर कुसुम शर्मा, संजू वालिया, किरण चौधरी, कैप्टन गुलशन, मोनिका व सुमन कंसल मौजूद रहे !


शेयर करें।
  • 49
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    49
    Shares
Advertisement













LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.