पुराना चुंडीपुर गांव में ग्रामीण बोले – “फिरनी से कब्जा नहीं छुड़ाया गया तो करेंगे प्रदर्शन”

0
Advertisement

करनाल। सीएम सिटी के साथ लगते पुराना चुंडीपुर गांव में समस्याओं का अंबार है। ग्रामीणों के बुलावे पर युवा बोलेगा मंच की टीम गांव में पहुंची। ग्रामीणों ने टीम को गांव की विभिन्न समस्याओं से अवगत करवाया। ग्रामीणों ने बताया कि तीन-चार गांवों मुस्तफाबाद, मोदिनीपुर, रसूलपुर के लोग जब सड़क पार करते हुए पुराना चुंडीपुर गांव पहुंचते हैं।

भारी वाहनों के साथ ये लोग चुंडीपुर गांव के बीच वाली गली से गुजरते हैं, जिससे इस गली की हालत खस्ता हो गई है। यह गली सदियों पुरानी है। फिरनी निर्माण के लिए पुराना चुंडीपुर गांव के लगभग 20 साल से संघर्ष कर रहे हैं। ग्रामीण वेदपाल, रमेश, पंचायत मैंबर जसवंत, बिट्टू व कुलदीप का कहना है कि उनके गांव की फिरनी आधी से ज्यादा बन चुकी है। पीडब्लयूडी सड़क से फिरनी को जोडऩे के लिए बीच में गांव के सरपंच के ही जाने पहचनाने वाले एक व्यक्ति ने कब्जा कर रखा है।

Advertisement


इस कब्जे को छुड़वाने के लिए कई बार सरकारी टीम डीडीपीओ के नेतृत्व में आ चुकी है मगर कब्जाधारी बाज नहीं आ रहे। इस मौके पर युवा बोलेगा मंच के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट जेपी शेखपुरा ने ग्रामीणों के साथ गांव का दौरा किया। ग्रामीणों की समस्या सही पाई गई। जेपी शेखपुरा ने कहा कि अगर 15 दिनों के भीतर फिरनी से कब्जा नहीं छुड़वाया गया तो ग्रामीणों को साथ लेकर करनाल में बड़ा प्रदर्शन किया जाएगा।

इसके अलावा पुराना चुंडीपुर गांव में घरों के बीच में बिजली के खंभे लगे हुए हैं। चार सालों से पाइप लाइन का गंदा पानी पेयजल में शामिल हो जाता है, जिसे पीने के लिए ग्रामीण मजबूर हैं। ममता, कविता व सुरेंद्र का कहना है कि पिछले दिनों गांव में विकास के लिए डेढ़ करोड़ की ग्रांट आई मगर उसका प्रयोग अभी तक नहीं किया गया।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.