वायुसेना के सहयोग से चंडीगढ़ हवाई अड्डे से जहाज से भुवनेश्वर के लिए दो ऑक्सीजन टैंकर हुए रवाना , CM मनोहर लाल खट्टर भी रहे मौजूद

0
Advertisement



Live – देखें – वायुसेना के सहयोग से चंडीगढ़ हवाई अड्डे से जहाज से भुवनेश्वर के लिए दो ऑक्सीजन टैंकर हुए रवाना , CM मनोहर लाल खट्टर भी रहे मौजूद , देखें Live – Share Video

मुख्यमंत्री खट्टर ने भारतीय वायुसेना का भी किया धन्यवाद

Advertisement


जब जब देश को ज़रूरत पड़ी सेना ने पूरी ताकत से देश के नागरिकों की मदद की है। सेना की मदद से पानीपत व हिसार में 500-500 बेड के अस्पताल तैयार किये जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा मैं भारतीय वायुसेना का विशेष आभार प्रकट करता हूँ , जो पूरे देश में ऑक्सीजन की त्वरित आपूर्ति युद्ध स्तर पर करने में सहायता कर रही है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने भारतीय वायुसेना के विमान के पायलटों से बात की तथा देश की इस विपत्ति के समय में उनके द्वारा किये जा रहे सहयोग के लिए पूरी टीम का धन्यवाद प्रकट किया।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि रोजाना हवाई जहाज से ऑक्सीजन सप्लाई के लिए टैंकर भेजे जा रहे हैं ताकि सप्लाई जल्द आ सके और प्रदेश में कोविड मरीजों को किसी प्रकार की दिक्कतें न हों। ये टैंकर उड़ीसा के टाटा स्टील प्लांट से लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन सप्लाई लेकर अगले दिन वापिस आएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में राउरकेला, जामनगर, अंगुल आदि कई स्थानों से मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई रेल एवं हवाई मार्ग से आ रही है।

अब तक हवाई जहाज ने 19 फेरे लगाए है तथा 36 टैंकरों के माध्यम से 436 मिट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन सप्लाई हुई है। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन सप्लाई बिना किसी बाधा के सभी जिलों में मरीजों को समय पर उपलब्ध करवाई जा रही है। इस प्रकार, मानव जीवन को बचाने के लिए सरकार की ओर से बेहतर पहल की गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय वायु सेना कोविड महामारी के दौरान सराहनीय कार्य कर रही है। इसके लिए मुख्यमंत्री ने वायु सेना का आभार जताया। मुख्यमंत्री ने वायु सेना के अधिकारियों से विस्तार से बातचीत की और संकट की इस घड़ी में सराहनीय कार्य करने पर उनका हौसला बढ़ाया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा के पानीपत व हिसार में 500-500 बेड के अस्पताल तैयार किए जा रहे हैं। इस कार्य में भी सेना का सहयोग लिया जा रहा है।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.