कोरोना वायरस संक्रमण की जांच के लिए कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज के अलावा स्वास्थ्य विभाग की सभी सीएचसी में भी सैम्पल लेने की करें व्यवस्था : उपायुक्त निशांत कुमार यादव

0
Advertisement


  • उपायुक्त ने कोरोना वायरस से बचाव को लेकर की जा रही व्यवस्था को और सुदृढ़ बनाने के लिए की चर्चा,
  • कहा नए कोविड केयर सैंटर बनाने के लिए स्थान की करें पहचान।

करनाल 5 अगस्त: उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने कोरोना वायरस से बचाव को लेकर जिला प्रशासन की ओर से की जा रही व्यवस्था को और सुदृढ़ बनाने के लिए कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज के निदेशक डा. जगदीश दुरेजा व सिविल सर्जन डा. योगेश शर्मा के साथ विस्तार से चर्चा की और निर्देश दिए कि कोरोना संक्रमण से संदिग्ध व्यक्तियों के सैम्पल बढ़ाए जाएं। उन्होंने यह भी कहा कि कोविड केयर सैंटर में रह रहे व्यक्तियों की अगर हालत बिगड़ती है तो उसे कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज में ही रैफर करें, किसी अन्य स्थान के लिए नहीं।

उपायुक्त बुधवार को लघु सचिवालय के सभागार में कोविड-19 से जुड़े अधिकारी व कर्मचारियों की बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षणों की जांच के लिए कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज के अलावा स्वास्थ्य विभाग की सभी सीएचसी में भी सैम्पल लेने की व्यवस्था करवाएं ताकि अधिक से अधिक लोगों का कोरोना टैस्ट हो सके।

Advertisement


इस पर सीएमओ ने बताया कि असंध, निसिंग, इंद्री व नीलोखेड़ी तथा घरौंडा की सीएचसी में कोरोना के सैम्पल लेने शुरू कर दिए गए हैं तथा बल्ला व तरावड़ी में मोबाईल टीम के द्वारा सैम्पल लेने की व्यवस्था की गई है।

उपायुक्त ने कहा कि कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज में अन्य बीमारियों से ग्रस्त मरीजों तथा डिलीवरी के लिए आने वाली महिलाओं का कोविड टैस्ट अवश्य करवाया जाए। बैठक में उपस्थित कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज के निदेशक डा. जगदीश दुरेजा ने बताया कि प्लाजमा ब्लड बैंक स्थापित करने की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं।

इस ब्लड बैंक में कोविड के जो मरीज ठीक हो जाते हैं, उनका 4 से 6 सप्ताह के बाद ब्लड सैम्पल लिया जाता है, एक व्यक्ति के रक्तदान करने से दो मरीज ठीक हो जाते हैं। उन्होंने अपील की कि कोविड से जो व्यक्ति ठीक हो चुके हैं वे रक्तदान के लिए स्वेच्छा से कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज में अपना नाम दर्ज करवाएं ताकि जरूरत पडऩे पर उनका प्लाजमा या ब्लड कोविड मरीज की जान बचाने के काम आ सके।

बैठक में उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने कोरोना वायरस के बढ़ते केसों को मद्देनजर रखते हुए नए कोविड केयर सैंटर की पहचान के लिए एसडीएम करनाल को निर्देश दिए। उन्होंने आम लोगों से अपील की है कि जो लोग सुबह-शाम सैर करते हैं वे मास्क का प्रयोग अवश्य करें तथा सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करें।

इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त अशोक कुमार बंसल, एसडीएम नरेन्द्र पाल मलिक, नगरनिगम के संयुक्त आयुक्त गगनदीप सिंह, सीटीएम विजया मलिक, डीआरओ श्याम लाल, पीएमओ अश्वनी आहूजा उपस्थित रहे।






LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.