लोकसभा आम चुनाव की तैयारियों को लेकर राज्य निर्वाचन अधिकारी ने की उपायुक्तो के साथ समीक्षा, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश।

0
Advertisement


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भारत चुनाव आयोग की ओर से लोकसभा आम चुनाव-2019 के कार्यक्रम की घोषणा के बाद प्रदेश में चुनावी गतिविधियां बढ़ गई हैं। मंगलवार को राज्य निर्वाचन अधिकारी राजीव रंजन ने सभी उपायुक्तों के साथ विडियो कॉन्फ्रैंसिंग के माध्यम से उनके लोकसभा क्षेत्र में की गई तैयारियों की समीक्षा की और कुछ जरूरी टिप्स भी दिए, ताकि चुनाव के दौरान किसी प्रकार की दिक्कत का सामना ना करना पड़े। उन्होने कहा कि प्रजातंत्र में चुनाव का जितना महत्व है, उससे जरूरी है कि चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण सम्पन्न हों।

समीक्षा बैठक में उन्होने मतदान से पूर्व पोलिंग पार्टियों की तैयारी, उन्हे मतदान सामग्री और मतदान के बाद सामान को कोलेक्ट करने में क्या-क्या सावधानियां बरतनी हैं, इस पर काफी बल दिया। उन्होने सभी उपायुक्तों से कहा कि कोलेक्शन के लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए सूझ-बूझ वाले और चुस्त कर्मचारियों की टीम बनाई जाए। प्रत्येक टीम में कम से कम 5 मेम्बर हों।

Advertisement


उनका कहना था कि क्यू मेनेजमेंट अच्छे से हो, ताकि सामान लेने और देने में कोई कठिनाई पेश ना आए। अक्सर ऐसे अवसरो पर किसी पंक्ति में अधिक भीड़ और कोई खाली रह जाती है, ऐसा नही होना चाहिए। इससे अव्यवस्था का माहौल बनता है और सामान देने व इकठ्ठा करने में विलम्ब होता है। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि इस काम में लगे कर्मचारी की ड्यूटी एक ही जगह लगाई जाए। उन्होने कहा कि जिन जिलो में वोटर वैरीफिकेशन का काम अभी भी पेंडिंग है, उसे पूरा कर लें। इसी प्रकार पोलिंग बूथो पर सभी सुविधाएं पूरी हो चुकी हैं, यह भी सुनिश्चित कर लें।

चुनावी सामग्री वितरण और कोलेक्शन टीमो का किया गया गठन-विनय प्रताप सिंह। 

विडियो कॉन्फ्रैंसिंग में करनाल के उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी विनय प्रताप सिंह ने बताया कि करनाल जिला में 5 विधानसभा क्षेत्र पड़ते हैं। पोलिंग पार्टियों को दी जाने वाली चुनाव सामग्री के वितरण और कोलेक्शन के लिए टीमे बना ली गई हैं। सम्बंधित एआरओ द्वारा इस बारे प्रशिक्षण देने की भी तैयारियां चल रही हैं। उन्होने बताया कि करीब 75 सेक्टर ऑफिसर व 40 जोनल मजिस्ट्रेट की नियुक्ति के लिए उनकी पहचान कर ली गई है। इसके अलावा केन्द्र सरकार के विभिन्न विभागो से 150 माइक्रो ऑब्जर्वर और सहायक खर्च पर्यवेक्षक की नियुक्ति के लिए भी पहचान कर ली गई है।

करनाल जिला में 10 लाख 47 हजार 522 मतदाताओं के लिए कुल 1141 मतदान केन्द्र किए स्थापित। 

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि लोकसभा चुनाव के लिए करनाल जिला में 10 लाख 47 हजार 522 मतदाताओं के लिए 1141 मतदान केन्द्र स्थापित किए गए हैं। इनमें 5 लाख 56 हजार 129 पुरूष व 4 लाख 91 हजार 393 महिला मतदाता शामिल हैं।


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Advertisement













LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.