अब करनाल में “बुलेट ता रखी ए पटाखे पाउन नु” वालों की खैर नहीं, करनाल पुलिस काटेगी चालान।

1
Advertisement

बुलेट से साइलेंसर निकालकर ध्वनि प्रदूषण करने और पटाखे जैसी आवाज निकालकर दहशत फैलाने वालों से पुलिस अब सख्ती से निपटेगी।चालान के साथ-साथ उनके खिलाफ केस भी दर्ज किए जाएंगे। ऐसे लोगों की बाइक जब्त की जाएगी। चालक को अगर अपनी बाइक छुड़वानी होगी तो जुर्माने के अलावा टोइंग फीस देने के साथ-साथ मैकेनिक लाकर बाइक का साइलेंसर बदलना होगा, जिसकी जांच के बाद ही उसे रिलीज किया जाएगा।

यह आदेश पुलिस अधीक्षक जश्नदीप सिंह रंधावा ने जारी किए हैं। उन्होंने बताया कि लोग बुलेट के शोर और पटाखों जैसी आवाज सुनकर खासे परेशान थे, जिसकी शिकायतें पुलिस को मिल रही थीं। खासकर बुजुर्गों और बच्चों ने भी नींद हराम होने की बात कही थी, इन शिकायतोंं को देखते हुए पुलिस ने यह सख्त कदम उठाया है। सभी थानों और चौकी इंचार्ज को अपने-अपने इलाके में बुलेट से साइलेंसर निकालकर पटाखे सी ध्वनि निकालने वाले बाइक चालकों की बाइक जब्त करने के आदेश दिए गए हैं।बुलेट के पटाखे से सैक्टर-13 के लोग सबसे ज्यादा परेशान हैं। लोगों की शिकायत है कि आधी रात तक भी कई युवक बुलेट पर पटाखों जैसी आवाज निकालते हैं और पूरे सेक्टर में दहशत फैला देते हैं, जिसके चलते उनकी नींद हराम हो चुकी है।

Advertisement


लोगों के अनुसार इस सेक्टर में अधिकांश ट्यूशन सेंटर और पीजी हैं।ज्यादातर बच्चों के पास बुलेट मोटरसाइकिल है जिनके साइलेंसर निकाले हुए हैं। खासकर रात के समय साइलेंसर रहित मोटरसाइकिलों की आवाज इतनी अधिक गूंजती है कि दहशत फैल जाती है। कई लोगों ने बुलेट से पटाखे बजाने वाले बाइक सवार युवक पकड़े हैं लेकिन वे झगड़े पर उतारू हो जाते हैं और उनके अभिभावक भी उन्हें ऐसा करने से रोकने के बजाय उनका ही पक्ष लेते हैं।लोगों में बुलेट के पटाखों का काफी खौफ बना हुआ है। बुलेट चलाते हुए चालक एक दम बाइक को स्विच बंद करके दोबारा ऑन करता है तो साइलेंसर से जोरधार पटाखा बजता है।पटाखे से आसपास के लोगों को लगता है कि कोई गोली चली है।

लोगों की शिकायत है कि खासकर सायं और रात के समय सेक्टरों में बुलेट मोटरसाइकिल से युवा मटरगश्ती करधवनि प्रदुषण फैलते हैं और लोगों को परेशान करते हैं।

साइलेंसर बदलने वाले मैकेनिकों पर भी पुलिस करेगी कानूनी कार्रवाई

एजेंसी से नई बुलेट निकालते ही युवा सबसे पहले साइलेंसर चेज करवाते हैं, ताकि बाइक की आवाज को बुलंद किया जाए और हुलड़बाजी में पटाखों से आवाज निकाल सकें। पुलिस ने अपने-अपने इलाकों में बुलेट की एजेंसी के बाहर बैठे मैकेनिकों और मोटर मार्केट में मैकेनिकों को सख्त हिदायत दी है कि अगर कोई मैकेनिक बुलेट का साइलेंसर बदलते हुए पकड़ा गया उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

हाईकोर्ट गंभीर

पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट के जस्टिस एके मित्तल एवं जस्टिस अनुपिंदर सिंह ग्रेवाल की खंडपीठ ने ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिंए हैं। कोर्ट ने कहा है कि साइलेंसर मॉडिफाई कर तेज धमाकेकरने वालों को अब बताने का समयआ गया है कि किसी की शांति में खलल डालना अपराध है। ऐसे में सख्ती की जरूरत है। पुलिस ने ऐसे मैकेनिकों का डाटा तैयार किया है जो साइलेंसर मॉडिफाई करते हैं अौर तेज या प्रेशर हॉर्न लगाते हैं। इनपर जुर्माने के साथ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। एक्ट में ही प्रावधान है कि नियमों का उल्लंघन करने पर दूसरी बार पकड़े जाने पर कैद या जुर्माना या दोनों ही लगाए जा सकते हैं। उच्च न्यायालय का फैंसला है कि जो भी मैकेनिक इस प्रकार का किसी भी बाइक में साइलेंसर लगाएगा तो वो भी पकड़ा जाएगा।

दहशत फैलाते हैं युवा

पुलिस अधीक्षक जश्नदीप सिंह रंधावा ने कहा है कि बुलेट बाइक में आने वाली तेज पटाखे की आवाज से लोग कई बार दहशत में आ जाते हैं। बाइक के इंजन से निकलने वाली पटाखे की आवाज इतनी तेज होती है कि अचानक से लोग डर जाते हैं। इसी के चलते अब पुलिस इस तरह की बाइकों पर सख्ती दिखा रही है। अब अगर बुलेट बाइक में पटाखे की आवाज आई तो इसके लिए जुर्माना तो भरना ही पड़ेगा साथ ही जेल की हवा भी खानी पड़ेगी। पुलिस ने अब इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की ठान ली है। हर जगह नाकों पर खड़े होकर पुलिस बुलेट को चेक कर या तो मामला दर्ज करेगी या फिर बुलेट को कब्जे मेंलेगी। जो लोग बुलेट के पटाखे बजाते हैं, अगर वहां में कोई कमज़ोर दिल वाला व्यक्ति गुजर रहा हो तो उसे बुलेट के पटाके की आवाज से कुछ भी हो सकता है।

Advertisement


1 COMMENT

  1. bullet walo k toh piche hi padjo jail mein bacha jaayega kisi ka saari zindagi kharab sahi hai esa sp hona chaiye har jgha toh jo bacho ki lyf hi khatam krde

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.