ग्रीन लैंड पब्लिक स्कूल में राज्य स्तरीय योग प्रत्योगिता का आयोजन किया गया

0
Advertisement

शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्रीन लैंड पब्लिक स्कूल के भवय  प्रांगण में  आज योग स्पोर्ट्स एसोसिएशन हरियाणा की तरफ से आज राज्य  स्तरीय योग प्रत्योगिता का  आयोजन किया गया।  हरियाणा राज्य के सभी स्कूलों ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया।  इस प्रतियोगिता में 100  से अधिक स्कूलों  के 2000 बच्चो ने भाग लिया।  आयोजन की अध्यक्षता विद्यालय की प्रधानाचार्य डॉ निशा गुप्ता जी ने की।
कार्यक्रम का शुभारम्भ करनाल शहर की मेयर श्रीमती रेनू बाला गुप्ता  जी के शुभ कर कमलो द्वारा दीप  प्रज्वलित करके किया  गया । मुख्य अतिथि जी का स्वागत करते हुए स्कूल के बच्चो ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की।  विद्यालय के चेयरमैन सर श्री विजय पाल जी व् डॉ निशा गुप्ता जी ने मुख्य अतिथि व् वशिष्ट अतिथि श्री अनिल कुमार जिला खेल अधिकारी , श्री मोहिंदर रेखि  स्टेट प्रेजिडेंट , श्री मनोरम यादव,  महासचिव ,श्री हर्ष कुमार   केशियर का तहे दिल से स्वागत किया।  जिनोह्णे अपना कीमती  समय देकर आयोजन को शोभामान किया।
विद्यालय में योग प्रतियोगिता दो दिन तक चलेंगी।  विद्यार्थियों ने रंगारंग संस्कृति कार्यक्रम प्रस्तुत कर आये हुए अतिथियों  का मनोरंजन किया।  विद्यार्थियों द्वारा अपनी योग की प्रतिभा का इतना सूंदर प्रदर्शन किया की मानो समा ही बाँध दिया।  देखने वाले सभी लोग आये हुए परिजन भी दांग रह गए।  श्री मति रेनू बाला गुप्ता जी ने अपने व्यक्तव्य में बच्चो को योग के बारे में बतया की योग एक प्राचीन भारतीय पद्धिति है।
जिसमे शरीर मन और आत्मा को एक साथ लाने का काम होता है।  डॉ निशा गुप्ता ने बतया की योग  स्वस्थ  रहने से आप स्वय  को सवस्थ महसूस करते है।  योग प्रतीक्षा प्रणाली को मजबूत बनाकर जीवन में नवऊर्जा का संचार होता है।
योग आसान और मुद्राये तन और मन दोनों को किर्याशील बनाये रखती है।  कार्यक्रम में प्रतिभागयिओ ने अपनी प्रितभा निखारते हुए बहुत प्रदर्शन किया।  अंत में चेयरमैन सर श्री विजय पाल जी व् डॉ निशा गुप्ता जी ने आमंत्रित अतिथयों का धन्यवाद करते हुए आयोजान का समापन किया।

शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Advertisement




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.