आठ मिनट रोजाना ऊँ का उच्चारण करने से शरीर के विकार व सैकड़ों रोग ठीक हो जाते हैं – योग शिक्षक

0
Advertisement

करनाल। योग कक्षा सेक्टर 12 फव्वारा पार्क के मु य योग शिक्षक दिनेश गुलाटी ने मैं स्वस्थ मेरा भारत स्वस्थ की शपथ दिलाई और कहा कि अगर मैं स्वस्थ हंू तो मेरा परिवार स्वस्थ रहेगा और अगर परिवार स्वस्थ होगा तो स्वस्थ समाज का निर्माण होगा और अगर समाज स्वस्थ होगा तो मेरा पूरा भारत स्वस्थ होगा।

Advertisement


इससे पहले दिनेश गुलाटी ने योगिंग जोगिंग और आसनों, भस्त्रिका, कपालभाति प्राणायाम का अ यास करववाया। इसके बाद मु य योग शिक्षक दिनेश गुलाटी अपने सहयोगी योग शिक्षक सुरिंद्र नारंग, पवन सैनी के साथ डीएवी पुलिस पब्लिक स्कूल मधुबन में पहुंचे, जहां बच्चों के लिए लगाए गए सात दिवसीय योग शिविर के पांचवे दिन करनाल के प्रसिद्ध योग शिक्षक दिनेश गुलाटी ने योग व प्राणायाम की क्रियाएं करवाई और ऊँ शब्द का जाप करवाते हुए कहा कि आठ मिनट रोजाना ऊँ का उच्चारण करने से शरीर के विकार व सैकड़ों रोग ठीक हो जाते हैं।

ऊँ का उच्चारण करने से मस्तिष्क में विशेष वाइब्रेशन कंपन होती है और आक्सीजन का प्रवाह पर्याप्त होने लगता है। कई मस्तिष्क के रोग दूर होते हैँ। स्ट्रैस और टेंशन दूर होते हैं। मेमोरी पावर बढ़ती है। लगातार सुबह शाम छह मिनट ऊँ के तीन माह तक उच्चारण से रक्त संचार संतुलित होता है और रक्त में आक्सीजन लेवल बढ़ता है। रक्तचाप, हृदय और कोलोस्ट्रोल जैसे रोग ठीक हो जाते हैं।

विशेष उर्जा का संचार होता है। मात्र दो सप्ताह दोनों समय ऊँ का उच्चारण करने से घबराहट, बेचैनी, भय जैसे रोग दूर होते हैं। कंठ में विशेष कंपन होता है, मांसपेशियों को शक्ति मिलती है। थायराइड गले की सूजन दूर होती है। पेट में भी विशेष वाइबे्रशन और दबाव होता है।

एक माह तक दिन में तीन बार छह मिनट तक ऊँ का उच्चारण्ण पाचन तंत्र, लीवर, आंतों को शक्ति प्राप्त होती है। डाजेशन सही होता है। सैकड़ों उदर रोग दूर होते हैं। नित्य प्रति ऊँ का उच्चारण करने से आयु भी बढ़ती है।

इस अवसर पर योग शिक्षक नवीन संदूजा, योग शिक्षिका नीलम बठला, निधि गुप्ता, राघव सिंगला, राहुल ठक्कर, आईडी मदान, डा. पवन कांबोज, डा. बैजल, बीआर चौधरी, एमएल अरोड़ा, केएल मिड्डा, साधा सिंह, रीतू, सुनीता, बब्बल मान, निर्मला, निशांत व आकृति आदि मौजूद रहे।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.