दयाल सिंह स्कूल सेक्टर 7 में 3 दिवसीय विज्ञान मेले का हुआ समापन देखें पूरी खबर

0
Advertisement


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंडियन रिसोर्स एंड डेवलपमेंट एसोसिएशन (इरादा) के तत्वाधान में राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद के सहयोग से तीन दिवसीय विज्ञान मेले के तीसरे एवं अंतिम दिन पुरस्कार वितरण समारोह के साथ दयाल सिंह पब्लिक स्कूल सेक्टर सात के प्रांगण में जिला विज्ञान विशेषज्ञों की उपस्थिति में समापन हुआ।

Advertisement


कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि दयाल सिंह ट्रस्ट सोसाइटी के जनरल मैनेजर श्री बी आर गुलाटी उपस्थित रहे । विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती नीना रॉय सिंह ने पुष्पगुच्छ देकर उनका स्वागत किया । मुख्य अतिथि ने सभी विजेताओं को सर्टिफिकेट एवं ट्रॉफी देकर सम्मानित किया।

पुरस्कार पाने के पश्चात विजेता छात्र-छात्राओं का चेहरा खुशी से झूम उठा । उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने अध्यापक वर्ग एवं माता पिता के  सहयोग को दिया । विज्ञान विशेषज्ञों के द्वारा आयोजित की गई गतिविधियां मुख्य आकर्षण का केंद्र रही।

मध्य प्रदेश से पहुंचे श्री जितेंद्र भटनागर ने चमत्कारों की वैज्ञानिक व्याख्या करते हुए बताया कि कोई भी चीज चमत्कार नहीं होती। हर चीज के पीछे कोई ना कोई विज्ञान का रहस्य छिपा होता है। उन्होंने विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से इसे उजागर करने का प्रयास किया उन्होंने बच्चों को दिखाया कि किस तरह से ढोंगी तथाकथित बाबा अपने शरीर के आर पार कोई त्रिशूल या भाला निकाल कर दिखाते हैं और आमजन को मूर्ख बनाते हैं।

उनके साथ छल कपट करते हैं। वही लखनऊ उत्तर प्रदेश से पहुंचे कठपुतली विशेषज्ञ श्री कृष्ण कांत राय ने पुतले के माध्यम से विज्ञान का प्रचार प्रसार करते हुए लोक विधा दिखाई। कवक विज्ञान विशेषज्ञ श्री अजमेर सिंह चौहान ने तारामंडल के माध्यम से बच्चों में खगोल विज्ञान की जानकारी उपलब्ध करवाने का काम किया।

वही श्री दर्शन लाल बवेजा द्वारा विज्ञान के  प्रयोग हमारे आसपास की चीजों से करके दिखाएं और उनके पीछे की विज्ञान को समझाया। वही बिहार से पहुंचे श्री नबी ने बताया कि किस तरह से बिना मिट्टी के पौधे को उगाया जा सकता है। यह देख बच्चे आश्चर्यचकित हो रहे  है।

विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती नीना रॉय सिंह ने विज्ञान मेले के सफलतापूर्वक समापन पर खुशी जाहिर करते हुए विज्ञान के प्रति बच्चों की रुचि की सराहना की । उन्होंने इंडियन रिसोर्स एंड डेवलपमेंट एसोसिएशन (इरादा) और उनके सहयोगियों को इसका धन्यवाद दिया और विश्वास दिलाया कि विद्यालय सदैव इस प्रकार की प्रदर्शनियों में उनका सहयोग करता रहेगा।

विद्यालय की मुख्य अध्यापिका श्रीमती शालिनी नारंग ने भी विज्ञान मेले को विद्यालय तथा विद्यार्थियों के लिए एक अनोखा कदम बताया। इस अवसर पर विद्यालय की विज्ञान अध्यापिकाएं श्रीमती निधि शर्मा , नीलम शर्मा , नाज पाठक एवं अध्यापक श्रीमान विकास मेहला मेले की गतिविधियों के संचालन में सुचारु रुप से जुटे रहे।


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Advertisement









LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.