करनाल के रिटर्निंग अधिकारी ने मीडिया व राजनीतिक पार्टियो के प्रतिनिधियो के साथ की बैठक, आदर्श आचार संहिता के पालन की की अपील।

0
Advertisement

करनाल विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग अधिकारी एवं एसडीएम नरेन्द्र पाल मलिक ने कहा कि विधानसभा चुनाव में अधिक से अधिक मतदान प्रतिशत बढ़े, इसके लिए स्वीप के तहत गांव-गांव प्रचार किया जा रहा है। संवेदनशील बूथो पर अधिक से अधिक चौकसी रखी जाएगी। चुनाव के दौरान मॉडल पोलिंग बूथ, महिला व दिव्यांग पोलिंग बूथ बनाए जाएंगे।

एसडीएम नरेन्द्र पाल मलिक वीरवार को लघु सचिवालय के सभागार में मीडिया कर्मियो व राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि राजनीतिक पार्टी के प्रतिनिधि चुनाव के दौरान आदर्श आचार संहिता का पालन करें। जो भी प्रचार-प्रसार करना है, वह अनुमति के अनुसार व चुनाव आयोग की हिदायतो के अनुसार करें।

Advertisement


उन्होंने कहा कि चुनाव के लिए 27 सितम्बर को अधिसूचना जारी हो जाएगी। उन्होंने बताया कि छुट्टी को छोड़कर 27 सितम्बर से 4 अक्तूबर तक नामांकन लिए जाएंगे। नामांकन लेने का समय सुबह 11 बजे से दोपहर बाद 3 बजे तक रहेगा। पांच अक्तूबर को नामांकनो की छटनी होगा, 7 अक्तूबर को सांय 3 बजे तक नाम वापिस लिए जाएंगे और उसके बाद शेष बचे उम्मीदवारो को चुनाव चिन्ह आबंटित किए जाएंगे।

मतदान 21 अक्तूबर को सुबह 7 बजे से सांय 6 बजे तक होगा। उन्होंने बताया कि डीएवी कॉलेज करनाल में करनाल विधानसभा के मतो की गिनती होगी। करनाल विधानसभा में 222 बूथ और 2 लाख 39 हजार 97 मतदाता हैं। उन्होंने बताया कि 4 अक्तूबर तक चुनाव आयोग द्वारा वोट बनवाने का निर्णय लिया गया है, मतों की संख्या ओर बढ़ सकती है।

उन्होंने बताया कि चुनाव में मतदान की संख्या बढ़े और 4 अक्तूबर तक जिनकी आयु 18 वर्ष से ऊपर है, वह अपना वोट बनवाएं, इसके लिए स्कूल, कॉलेजो में भी जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के तहत एक विशेष वैन हर बूथ पर जाकर जागरूक करेगी। इसके अतिरिक्त सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग की नाटक मण्डली द्वारा भी वोट बनवाने व उसका प्रयोग करने के बारे में गांव-गांव जागरूक किया जा रहा है।

उन्होंने राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों से कहा कि वह आदर्श आचार संहिता का पालन करते हुए, जो भी प्रचार के लिए रैली व व्हीकल लेने हैं, उसकी अनुमति सुविधा एप के जरिए या मैन्यूअल ले सकते हैं। बिना अनुमति के चलने वाले वाहनो को जब्त कर लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि जिस भी राजनीतिक पार्टी के प्रतिनिधि व नेता को ईवीएम वीवीपैट पर कोई संदेह है, वह 27 सितम्बर को 3 बजे प्रथम रैंडामाईजेशन के समय उपस्थित हो सकता है। मशीन से पोल करके देख सकता है। उन्होंने मीडिया कर्मियो से कहा कि वह पेड न्यूज़ छापने के लिए एमसीएमसी कमेटी से अनुमति लें, ताकि खर्चा उम्मीदवार के खाते में जोड़ा जा सके।

उन्होंने अपील की कि निष्पक्ष चुनाव के लिए जिला प्रशासन का सहयोग करें, वोट सम्बंधी किसी भी समस्या के निराकरण के लिए टोल फ्री नम्बर 1950 डायल करें।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.