सन्त निरंकारी चेरिटेबल फाउंडेशन करनाल द्वारा राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एवं राजकीय उच्च विद्यालय (ब्वायज ) प्रेम नगर में चलाया गया पौधरोपण एवं स्वच्छता अभियान

0
Advertisement


स्वच्छ भारत अभियान के ब्रांड एंबेसडर सन्त निरंकारी चेरिटेबल फाउंडेशन करनाल द्वारा राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एवं राजकीय उच्च विद्यालय (ब्वायज ) प्रेम नगर में पौधरोपण एवं स्वच्छता अभियान चलाया गया। मिशन के लगभग 600 स्वयं सेवकों ने भाग लिया। इस अवसर पर मेयर रेणुबाला गुप्ता ने अभियान का शुभारम्भ किया। उन्होंने जहां मिशन की भूरि-2 प्रशंसा की, वहीं सतगुरु बाबा हरदेव सिंह जी महाराज द्वारा विश्व की दिए गए योगदान का भी जिक्र किया और बताया कि किस प्रकार मिशन देश की प्रगति में अपना अमूल्य योगदान दे रहा है।

जोनल इंचार्ज महात्मा सतीश हंस जी ने बताया कि निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी महाराज के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में फाउंडेशन द्वारा 2003 से स्वच्छता और वृक्षारोपण अभियान चलाया जा रहा है। इस वर्ष पूरे भारतवर्ष में 1266 हस्पतालों के भवनों, शौचालयों, जल निकासी और पार्कों की स्वच्छता की गई। 2010 से विभिन्न सामाजिक गतिविधियों जैसे कि ऐतिहासिक स्मरकों, समुद्री तटों और नदियों के किनारे ,अस्पतालों ,सार्वजनिक स्थानों और विशेष रूप से प्रमुख रेलवे स्टेशनों को साफ-सुथरा बनाने के लिये 6-7 वर्षों तक लगातार स्वच्छता अभियान चलाए गया ।

Advertisement


इन प्रयासों को जन-साधरण और भारत सरकार द्वारा बहुत सराहा गया है। इसके अलावा फाउंडेशन द्वारा अनेकों सामाजिक कार्य किये जाते हैं जैसे वर्ष 1986 से रक्तदान शिविरों का आयोजन करके लगभग अभी तक 11 लाख यूनिट रक्तदान किया जा चुका है जो अपने आप में एक विश्व रिकार्ड है। देश में कहीं भी किसी प्रकार की प्राकृतिक आपदा आती है तब भी निरंकारी मिशन के स्वयं सेवक वहां पहुंच कर जरूरतमंदों की सहायता करते हैं । उन्होंने कहा कि अपने आदर्शों को व्यवाहारिकता के धरातल पर मूर्त रूप देते हुए जैसा कि जीवन की सार्थकता तभी है अगर यह दूसरों के लिए जिया जाए।

सन्त निरंकारी चेरीटेबल फाउंडेशन , निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी महाराज के मानव कल्याण के दृष्टिकोण से निर्देशित है, जिसका मानव के प्रति भाव है कि प्रदूषण भीतर हो या बाहर दोनों हानिकारक हैं। परमपूज्य पूज्य सतगुरु माता सुदिक्षा जी महाराज के मार्गदर्शन और आशीर्वाद से फाउंडेशन की सभी सामाजिक गतिविधियों की नियमित रूप से मानव ईश्वर-अंश को जानकर किया जाता है। इस अवसर पर पूर्व पार्षद भगवान दास अघी एवं अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.