पानीपत टोल प्लाजा पर युवा बोलेगा मंच का धरना प्रदर्शन

0
Advertisement

आज युवा बोलेगा मंच के साथ मिलकर पानीपत के आस-पास के लगते गाँवो और लोकल लोगो ने पानीपत टुल टैक्स पर धरना प्रदर्शन कर नारेबाजी की। प्रदर्शन के दौरान मंच द्वारा कुछ मांगे रखी गई। tool के आस पास 5 किलोमीटर के एरिया में रहने वाले लोगों को फ्री किया जाए tool मुक्त किया जाए दूसरा लोकल लोगो से 10 रुपये का टेक्स न लेकर उनका पास बनाया जाए। तीसरी मांग 100 मीटर के रास्ते को बंद करवा कर 3 कि.मी. के रास्ते को क्यों बनाया गया? इसके पीछे किसकी साजिश रही। चौथी मांग जो टैक्स पहले 5 रुपए वसूल जाता था अब 10 रुपए क्यों? पांचवी मांग एफ.सी.आई. गोदाम में घरौंडा कुटेल, बाबरपुर के राइस मिलरों द्वारा जो सरकारी चावल गाड़ियों में भरकर गवर्नमेंट एफ.सी.आई. पानीपत को दिया जा रहा है यानी कस्टम मिलिंग राइस उन गाड़ियों पर टोल टैक्स नहीं लगना चाहिए।

Advertisement


छुट्टी मांग लोकल गाड़ियों की लिए अलग से एक लाइन का प्रबंध क्यों नही करते। सातवीं मांग जब पूरे हरियाणा लोकल आदमियों के लिए टूल फ्री की सुविधा है तो यहां पर जब यह लोकल आदमी आपके द्वारा बनाए गए पुल पर ही नहीं चढ़ते तो इनसे टैक्स क्यों लेते हो? इन मांगों को रखते हुए टूल टैक्सतीन बार लोकल आदमी आंदोलन कर चुके हैं इसके अलावा लोकसभा से निर्वाचित अश्वनी चोपड़ा भी आ चुके हैं फिर कौन है वह शख्स जो टोल टैक्स वालों के साथ मिला हुआ है और आसपास के लोगों की मांगें पूरी नहीं होने दे रहा इसके अलावा JP शेखपुरा ने कहा अब की बार लोकल आदमी वोट लेने के लिए नेता जो आएंगे आप उनको जूतों का हार पहना देना क्योंकि वह आप आपकी आवाज नहीं उठा रहे हैं। मंच के सरंक्षक योगेंद्र शर्मा, सलाहकार पारस, प्रदेश सोशल मीडिया इंचार्ज हर्षित जयहिंद, करनाल महिला अध्यक्ष साध्वी राज सोनी, उपाध्यक्ष किरण रानी, करनाल पुरुष उपाध्यक्ष प्रतीक धवन, नीलोखेड़ी अध्यक्ष हरीश, तरावड़ी अध्यक्ष साहिल, सत्यपाल मित्तल, सुनील अरोड़ा, रविंदर शर्मा, सत्याप्रकाश, सुभाष, सोनू, अंकित, सुशील, गौरव, आकाश, मिठू, सुमित, सतनारायण, मोहम्द उमर, नवीन व अन्य मौजूद रहे। इसके अलावा 15 दिसंबर तक का समय दिया है या तो इन मांगों को मान लो नहीं तो तैयार हो जाओ इस टोल टैक्स को उखाड़ फेंकेंगे

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.