श्री सेवा समिति आश्रम में श्रीमद् भागवत ज्ञान यज्ञ का आयोजन

0
Advertisement


शेयर करें।
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares

करनाल। श्री सेवा समिति आश्रम में श्रीमद् भागवत ज्ञान यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। सोमवार को कथा सुनाते हुए साध्वी दीपमाला जी ने कहा कि भागवत के दशम स्कंध में अनेक लीलाओं का वर्णन है। भगवान माखन चोरी लीला भी करते हैं। ये माक्खन ही प्रेम का प्रतीक है।

जिस तरह दूध का सार माक्खन होता है उसी तरह हमारे जीवन का सार प्रेम है। ईश्वर हमसे केवल निश्छल प्रेम ही चाहता है बाकि सारे साधन जो हम करते हैं जैसे पूजा भक्ति ये सब परमात्मा को प्रसन्न करने के तरीके हैं। इन साधनों में भक्ति में, पूजा में यदि प्रेम शामिल हो जाए तो परमात्मा जल्दी और अत्याधिक प्रसन्न हो जाता है।

Advertisement


उन्होंने कहा कि गोवर्धन पूजन भी यही दर्शाता है कि जो ईश्वर की इच्छा के साथ एक हो जाता है उसकी सारी इच्छाओं को पूरा करने का दायित्व भी ईश्वर का हो जाता है। इस अवसर पर श्री सेवा समिति के प्रधान रामा मदान ने बताया कि कथा का आयोजन 20 मार्च तक किया जाएगा।

इस मौके पर तिलकराज खुराना, रूप नारायण चानना, सुरेंद्र नाथ गाबा, डी.डी खुराना, केके भंडारी, पुजारी आहूजा, प्रकाश चंद मलिक, कमल मुंजाल, सुनील नारंग व
लोकेश मौजूद रहे।


शेयर करें।
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares
Advertisement









LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.