करनाल के स्कूलों के विद्यार्थियों को देश से जोडऩे की निफा की मुहिम तेज गति से आगे बढ़ रही है

0
Advertisement


शेयर करें।
  • 15
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    15
    Shares

करनाल। करनाल के स्कूलों के विद्यार्थियों को देश से जोडऩे की निफा की मुहिम लगातार आगे बढ़ती जा रही है। हर रोज एक विद्यालय में जाकर निफा की टीम विद्यार्थियों से जहां 17 प्रश्नो पर आधारित सर्वे फार्म भरवा रही है, वहीं उनको उनके जीवन में सफलता व महानता के बीच सामंजस्य बना कर अच्छे इंसान बनने के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है।

Advertisement


विश्व एड्ज़ दिवस के उपलक्ष्य में नैशनल इंटेग्रेटेड फ़ोरम आफ आर्टिस्ट्स एंड एक्टिविस्टस ने ओपीएस विध्या मंदिर सेक्टर 13 में एक कार्यक्रम आयोजित किया ओर विध्यार्थियों को इस ला इलाज बीमारी से बचने के लिए आचार, विचार ओर व्यवहार में बदलाव लाने के लिए प्रेरित किया। 26 नव बर से 26 जनवरी देश की बात कार्यक्रम के पांचवे दिन के अपने उड़बोधन में निफ़ा अध्यक्ष पन्नु ने कहा कि एड्ज़ के कारणों में असुरक्षित व अनैतिक स बंध, ड्रग्स के लिए इस्तेमाल होने वाली सीरिंज आदि शामिल है ओर जिस व्यक्ति का आचरण व विचार अच्छे हैं वो इन दोनो बातों से बचा रहेगा ओर एड्ज़ जैसी बीमारी का शिकार नहीं होगा।

पन्नु ने विध्यार्थियो को राष्ट्र, समाज, स्कूल व मां बाप के प्रति संवेदनशील होने की सलाह दी ओर इनके प्रति अपने कर्तव्यों को पहचानने की ज़रूरत पर बल दिया। पन्नु ने बच्चों में परिवार व समाज के प्रति घटती नज़दीकी व नैतिक मूल्यों की कमी को समाज के लिए ख़तरनाक बताते हुए इस कमी को दूर करने पर बल दिया। विद्यालय की प्रिन्सिपल डॉक्टर जसजीत सूद ने भी विश्व एड्ज़ दिवस पर इस बीमारी के कारणों पर रोशनी डालते हुए कहा कि बचाव ही सबसे बढिय़ा इलाज है।

कार्यक्रम के मु य अतिथि निफ़ा संरक्षक रूप नारायण चाँदना ने ओर कार्यक्रम अध्यक्ष करनाल व्यापार मंडल के प्रधान जे आर कालड़ा ने भी अपने उड़बोधन में नैतिकता को वर्तमान समय की अनेक बुराइयों व समस्याओं का हल बताते हुए सिक्षको व अभिभावको से अनुरोध किया कि वे अपने बच्चों को अच्छे संस्कार व नैतिक मूल्य ज़रूर दें। इस कड़ी में निफा ने तरावड़ी के नरसिंह दास पब्लिक स्कूल में भी जाकर भी बच्चों से नैतिक मूल्यों पर चर्चा की। निफा के महाराष्ट्र शाखा के प्रधान व प्रसिद्ध लोक नृत्य गुरु व कलाकार भारत जेठवानी ने मु य अतिथि के रूप में शामिल होकर बच्चों को स्वाट सर्वेक्षण के माध्यम से आतम निरीक्षण करने की सलाह दी ताकि उन्हें अपनी ताकत और कमजोरियों का पता चल सके और समय रहते वो अपने अच्छे गुणों को बढ़ाकर व् कमियों को दूर कर अपने व्यक्तित्व का विकास कर सकें।

नर सिंह दास पब्लिक स्कूल की प्रिंसिपल डॉ निशा गुप्ता ने निफा द्वारा करनाल के समाज को नयी दिशा देने के निफा के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इन बातों पर अमल कर विद्यार्थी सफल इंसान बनने के साथ-साथ मानवीय गुणों से परिपूर्ण एक स पूर्ण इंसान भी बन सकते हैं। निफा के जिला प्रधान जितेंदर नरवाल ने भी बच्चों को स बोधित किया। इस अवसर पर निफ़ा की युवा टीम के प्रधान हितेश गुप्ता, मोहित रोहिला, अभिषेक यादव, देवेश्वर व अभिषेक ने 17 प्रश्नों पर आधारित सर्वे फ़ोरम भरवाया, जिसके आधार पर करनाल जिला के बच्चों के व्यक्तित्व की अच्छाइयों व कमियों का मूल्यांकन किया जाएगा। इस सर्वे में कुल दो लाख विद्यार्थियों को शामिल किया जा रहा है।


शेयर करें।
  • 15
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    15
    Shares
Advertisement













LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.