करनाल नगर निगम व मेयर चुनाव कल सुबह 7 से 4-30 बजे तक ,प्रशाशन ने सभी तैयारियां की शुरू

0
Advertisement

करनाल नगर निगम चुनाव के लिए रविवार को होने वाले मतदान को लेकर स्थानीय डी.ए.वी. सीनियर सेकेण्डरी स्कूल में शनिवार को चुनाव जनरल पर्यवेक्षक व सिचंाई विभाग हरियाणा के प्रधान सचिव अनुराग रस्तोगी तथा पुलिस पर्यवेक्षक व करनाल रेंज के पुलिस महानिरीक्षक नवदीप विर्क की उपस्थिति में तृतीय व अंतिम रिहर्सल सम्पन्न हुई।

डी.ए.वी. स्कूल के परिसर में आयोजित तृतीय रिहर्सल में आर.ओ.-सह-ए.डी.सी. शक्ति सिंह ई.वी.एम. का डैमो देते हुए।

जिला निवार्चन अधिकारी एवं उपायुक्त डॉ. आदित्य दहिया, पुलिस अधीक्षक एस.एस. भोरिया, रिटर्निंग अधिकारी शक्ति सिंह, सभी 20 वार्डों के सुपरवीजन ए.आर.ओ. मौहम्मद ईमरान रजा के अतिरिक्त अन्य ए.आर.ओ. डॉ. सुशील मलिक, नरेन्द्र पाल मलिक, सुमित सिहाग, अनुपमा सांगवान व कुलभूषण बसंल तथा नगर निगम के कार्यकारी अधिकारी धीरज कुमार भी इस मौके पर उपस्थित रहे।

मंच पर उपस्थित चुनाव पर्यवेक्षक, जिला उपायुक्त व जिला पुलिस अधीक्षक।
Advertisement


 फाईनल रिहर्सल में उपस्थिति के लिए सुबह से ही चुनाव डयूटी के कर्मचारियों व पुलिस फोर्स की चहल-पहल शुरू हो गई थी तथा सभी के लिए बैठने की व्यवस्था की गई थी। करीब 12 बजे ओवरआल रिपोर्टिंग ऑफिसर व आर.ओ.-सह-ए.डी.सी. शक्ति सिंह ने उपस्थित कर्मचारियों को विस्तार से ई.वी.एम. के प्रयोग का डैमो दिया। इस दौरान ध्यान रखने योग्य बातें व बारीकियों को रीपीट कर बताया गया तथा कर्मचारियों की क्वैरी को दूर किया।

रिहर्सल में उपस्थित पोलिंग पार्टियां।

खास बात यह रही कि मंच से आर.ओ. जब ई.वी.एम. का डैमो दे रहे थे, तो आई.टी.आई. से प्रशिक्षित अनुदेशक कर्मचारियों के बीच ही कुछ-कुछ फासलों पर यानि करीब 7 जगह साथ-साथ डैमो दिया जा रहा था। इससे बीच में और पीछे बैठे कर्मचारियों को बैलेट यूनिट व कंट्रोल यूनिट के संचालन तथा उनमें लगाई जाने वाली जरूरी सीलों का प्रयोग किया जाना आसानी से दिखाई दे रहा था। उन्होंने बताया कि एक बैलेट यूनिट को कंट्रोल यूनिट से कनेक्ट करके, दो नम्बर बैलेट यूनिट को एक नम्बर से कनेक्ट करना है।

पोलिंग पार्टियां अपने-अपने बूथो के लिए पोलिंग किट प्राप्त करते हुए।

मतदान के समय ई.वी.एम. में लगे बटन व नोटा बारे बताया गया। कंट्रोल यूनिट में स्ट्रीप, स्पेशल व ग्रीन पेपर यानि तीन तरह की सील की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि गलत प्रयोग से ई.वी.एम. मशीन में किस तरह के एरर आ सकते हैं और उनका समाधान क्या है।

 आर.ओ. ने पोलिंग बूथ पर ध्यान रखने योग्य बातें बताई। कहा कि पोलिंग एजेंटो की उपस्थिति में साढे 6 बजे मोक पोल कर लें और उनसे सर्टिफिकेट ले लें। मतदान केन्द्र के 100 मीटर के अंदर कोई भी प्रत्याशी या स्पोर्टर मतदाताओं को लुभाने की कोशिश नही कर सकता और ना ही कोई प्रत्याशी अपना बस्ता लगा सकेगा। मतदाताओं को डराने की कोशिश तथा बूथ कैप्चरिंग जैसी स्थिति में डयूटी पर मौजूद पुलिस पार्टी की मदद लें।

मतदान के दौरान पोलिंग अधिकारियों का व्यवहार नमर्तापूर्वक रहे। करीब आधे-आधे घण्टे के अंतराल में सुपरवाईजरी अधिकारी बूथ पर चक्कर लगाते रहेंगे, किसी तरह की दिक्कत पेश आए तो उन्हे बताएं। उन्होन बताया कि मतदान किट प्राप्त करने के समय तीन चीजें, जिनमें ई.वी.एम., सील और वोटर लिस्ट को अपने बूथ नम्बर के हिसाब से चेक करके ही लें। मतदान का समय प्रात: साढे 7 से सांय साढे 4 बजे तक रहेगा।

 रिहर्सल से पूर्व सेक्टर-12 स्थित लघु सचिवालय में चुनाव पर्यवेक्षक अनुराग रस्तोगी की उपस्थिति में डी.आई.ओ. व ए.डी.आई.ओ. ने पोलिंग पार्टियों का रैंडमाईजेशन किया। उपायुक्त डॉ. आदित्य दहिया व पुलिस अधीक्षक एस.एस. भोरिया भी इस मौके पर उपस्थित रहे। कौन सी पोलिंग पार्टी किस वार्ड व बूथ में जाएगी, एक सॉफ्टवेयर के जरिए उसका डाटा निकाला गया। उपायुक्त ने बताया कि नगर निगम चुनाव के लिए 224 बूथ बनाए गए हैं। इन सभी के लिए तथा 20 प्रतिशत अतिरिक्त आरक्षित पार्टियां बनाई गई हैं।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.