नगर निगम करनाल हुआ ओ.डी.एफ. प्लस-प्लस, भारत सरकार के शहरी मंत्रालय ने की अधिकारिक घोषणा

0
Advertisement



स्वच्छता में अपने शहर के नाम एक ओर उपलब्धि जुड़ गई है। ओ.डी.एफ. प्लस का प्रमाण पत्र हासिल करने के बाद अब करनाल शहर ओ.डी.एफ. प्लस-प्लस घोषित हो गया है। बीती 27 व 28 जनवरी को भारत सरकार के शहरी मंत्रालय की क्वालिटी कंट्रोल ऑफ इण्डिया (क्यू.सी.आई.) की टीम के दो दिवसीय करनाल दौरे के बाद सोमवार को ओ.डी.एफ. प्लस-प्लस की अधिकारिक घोषणा हुई।

इस घोषणा के बाद स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 के डॉक्यूमेंटेशन के 1250 अंको में से करनाल के 250 अंक पक्के हो गए हैं। शेष एक हजार अंक स्टार रेटिंग के हैं।

Advertisement


इस उपलब्धि के लिए नगर निगम की मेयर रेनु बाला गुप्ता तथा आयुक्त नगर निगम राजीव मेहता ने शहर के लोगो को बधाई देते हुए कहा है कि यह सब जनता की जागरूकता के कारण हुआ। लोग अब स्वच्छता का महत्व अच्छी तरह से समझ गए हैं। यहां तक की काफी समय पहले जो लोग खुले में शौच करते थे, ऐसा करना उन्हे भी अब अच्छा नही लगता।

क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की ओर से हरियाणा में स्वच्छ भारत मिशन और स्वच्छता का अत्याधिक प्रचार-प्रसार हुआ है। नगर निगम करनाल अपने सभी साधन और मैन पावर के साथ दिन-रात शहर की स्वच्छता कायम रखने में लगा है।

इस सम्बंध में आयुक्त नगर निगम राजीव मेहता ने बताया कि करनाल शहर के 20 वार्डों की अनुमानित 2 लाख 86 हजार 974 जनसंख्या के लिए नगर निगम द्वारा बनाए गए शौचालयों का, भारत सरकार की टीम ने निरीक्षण किया। इसके अतिरिक्त निगम के 3 ट्रीटमेंट प्लांट का भी दौरा किया, जिनमें 40 एम.एल.डी. अशोक नगर, 8 एम.एल.डी. शिव कॉलोनी और 10 एम.एल.डी. घोघड़ीपुर में बनाए गए शामिल हैं।

टीम ने शहर की भिन्न-भिन्न लोकेशन पर जाकर 16 सामुदायिक व सार्वजनिक शौचालयो का निरीक्षण किया। इनमें सैक्टर-9 नरसी विलेज, टिम्बर मार्किट, कर्ण पार्क, विवेकानंद पार्क, कर्ण लेक तथा ओल्ड जी.टी. रोड़ व बलड़ी बाईपास के शौचालय एक्सीलेंट पाए गए।

इसी प्रकार सैक्टर-12 स्लम एरिया का एक शौचालय अत्याधिक साफ पाया गया। जबकि गांधी नगर, राम नगर, बुढ़ा खेड़ा, पुलिस चैक पोस्ट, विवान, लहसुन मार्किट स्थित सुलभ शौचालय तथा कम्बोपुरा में बनाया गया शौचालय बेस्ट टॉयलेट करार दिया गया। इसके आधार पर क्यू.सी.आई. की टीम ने नगर निगम को ओ.डी.एफ. प्लस-प्लस की घोषणा के साथ प्रमाण पत्र दिया है।

निगमायुक्त राजीव मेहता ने शहर के लोगो से अपील की है कि उनके सहयोग और नगर निगम के लगातार प्रयासो से करनाल शहर को स्वच्छता के लिहाज से इस तरह की उपलब्धियां मिल रही हैं। शहर के इस स्टेटस को बनाए रखना निगम के साथ-साथ नागरिको की भी जिम्मेदारी है। इसके लिए कोई भी व्यक्ति खुले में कूड़ा-कचरा ना फैंके। शहर में नगर निगम के जितने भी शौचालय हैं, उनके प्रयोग के समय स्वच्छता का पूरा ध्यान रखें, ताकि वे स्वच्छ और प्रयोग में बने रहें।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.