शहीद पुलिसकर्मियों की शहादत नयी पीढ़ी के लिए प्रेरणास्रोत

0
Advertisement

पुलिस महानिदेशक मनोज यादव के संदेश पर पुलिस अधीक्षक कमाण्डों नेवल  सुरेन्द्र सिंह भौरिया के निर्देशन में कमाण्डो काम्पलैक्स नेवल में पुलिस स्मृति दिवस के अवसर पर शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इस अवसर पर उप पुलिस अधीक्षक  तरूण कुमार ने कहा कि चीन और भारत की सीमा पर  हॉटस्ट्रींग  में 21 अक्टूबर 1959 को दुश्मन सेना से लड़ते हुए 15 जवान वीरगति को प्राप्त हुए थे।

तब से प्रतिवर्ष 21 अक्टूबर को भारत वर्ष के समस्त पुलिस बलों द्वारा पुलिस शहीदी दिवस के रूप में सभी पुलिस बल मुख्यालयों पर मनाया जाता है। शहीद पुलिसकर्मियों की शहादत नयी पीढ़ी के लिए प्रेरणास्रोत है। आज के दिन सभी प्रदेशों में ड्यूटी के दौरान उन पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को जिन्होंने अपनी सेवा के दौरान अदम्य साहस और शौर्य का प्रदर्शन करते हुए जान की परवाह किये बिना अपने प्राणों की आहुति दी है, उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की जाती है।

Advertisement


उन्होंने कहा कि इस अवसर पर पुलिस विभाग के समस्त रैंक के अधिकारी व कर्मचारी शहीद बहादुर पुलिसकर्मियों के शहादत के प्रति कृतज्ञ हैं। इस अवसर पर आज के दिन के महत्व पर प्रकाश डालते हुए निरीक्षक कल्याण शाखा रणवीर शर्मा ने कहा कि हरियाणा पुलिस के तीन पुलिस अधिकारियों ने इस वर्ष अपनी सेवा के दौरान कुर्बानी दी है।

रेवाड़ी से उपनिरीक्षक रणवीर सिंह, अंबाला से सहायक उपनिरीक्षक सुरेश कुमार और आई.आर.बी. से मुख्य सिपाही यशपाल ने कत्र्तव्यपरायणता के दौरान राज्य के नागरिक सुरक्षा की बलि बेदी पर अपने प्राणों की आहुति दी है। हम इन पुलिसकर्मियों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।

इससे पूर्व सी.डी.आई. के नेतृत्व में पुलिस टुकड़ी ने उल्टा शस्त्र करके शहीदों को शोक सलामी दी। इस अवसर पर आर.आई. रामकुमार, लाइन प्रबन्धक सतपाल, प्रचार अधिकारी राजीव रंजन, उपनिरीक्षक शिव कुमार, उपनिरीक्षक दर्शन सिंह, उपनिरीक्षक, रविन्द्र, उपनिरीक्षक नीरज, उपनिरीक्षक वीरेन्द्र सहित काफ ी संख्या में पुलिस कर्मचारी/अधिकारी उपस्थित थे।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.