लूटपाट करने वाले एक बड़े गैंग को करनाल पुलिस की CIA 1 शाखा ने पकड़ा , हथियारों के बल पर करते थे लूट , 4 आरोपी हथियार सहित काबू

0
Advertisement



लूटपाट करने वाले एक बड़े गैंग को करनाल पुलिस की CIA 1 शाखा ने पकड़ा , हथियारों के बल पर करते थे लूट , 4 आरोपी हथियार सहित काबू

पूर्वनियोजित तरीके से हथियारों के बल पर व मारपीट कर छीनाछपटी जैसी गंभीर वारदातों को अंजाम देने वाले चार आरोपी करनाल पुलिस ने किये गिरफ्तार !

Advertisement


जिला पुलिस करनाल की सीआईए-01 टीम द्वारा चार ऐसे आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है जो पूर्व नियोजित तरीके से हथियारों के बल पर व मारपीट कर छीनाछपटी जैसी गंभीर वारदातों को अंजाम देते थे। इनमें से एक आरोपी ने जल्दी अमीर बनने के चक्कर में अपने साथ अपने की साथियों से स्नैचिंग करवाई और एक वारदात में अपने साथीकर्मी की जानकारी अपने आरोपी साथियों को देकर उसके साथ हथियारों के बल पर छीनाछपटी करवाई। ऐसे आरोपियों पर कार्यवाही करते हुये सीआईए-01 इंचार्ज निरीक्षक श्री दिपेंद्र सिंह की अध्यक्षता में कार्य करते हुये टीम द्वारा सबसे पहले दिनांक 23.07.2021 को आरोपी जितेंद्र उर्फ ढीला पुत्र मेवासिंह वासी हाट थाना सदर सफीदो जिला जींद को विश्वसनीय सूचना पर जीटी रोड घरौंडा से एक अवैध देशी पिस्तौल व एक जिंदा कारतूस सहित गिरफ्तार किया गया था।

जिस पर थाना घरौंडा में आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। आरोपी को पेश अदालत किया जाकर पुलिस रिमांड हासिल किया गया। दोरानै रिमांड पूछताछ में आरोपी ने अपने चार साथियों 1. कृष्ण 2. प्रवीण 3. सोनू वासियान जींद व 4 .आशिफ वासी सहारनपुर उत्तर प्रदेश के साथ मिलकर हथियारों के बल व मारपीट करके छीनाछपटी करने की दो वारदातों को अंजाम देने की बात का खुलासा किया गया। जिस पर सीआईए की टीम द्वारा कल दिनांक 25.07.2021 को आरोपी के तीन साथियों 1. कृष्ण पुत्र नरेंद्र 2. प्रवीण उर्फ पिन्ना पुत्र धर्मपाल वासियान गांव हाट थाना सफीदो जिला जींद व 3. आशिफ पुत्र रियाज वासी गांव समसपुर जिला सहारनपुर उत्तर प्रदेश* को करनाल की अलग-2 जगहों से गिरफ्तार किया गया। जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी निम्न वारदातों को पहले से योजना बना कर अंजाम देते थे और वारदात में छीने गये रूप्यों को आपस में बराबर-2 बांट लेते थे। इन वारदातों में मास्टरमाइंड आरोपी आशिफ है। जिसने अपने ही साथियों से अपने साथ लूट करवाई व अपने एक साथी कर्मचारी की जानकारी आरोपियों को देकर उसके साथ लूट करवाई।

*प्रारंभिक पूछताछ व अन्य विश्वनीय साक्ष्यों के आधार पर आरोपियों की जिला करनाल की निम्न वारदातों में संलिप्ता पाई गई है-*

1. मुकदमा नम्बर 202 दिनांक 14.04.2021 धारा 379ए थाना घरौंडा जिला करनाल। यह मामला शिकायतकर्ता आशिफ पुत्र रियाज वासी गांव समसपुर जिला सहारनपुर उत्तर प्रदेश के ब्यान पर बाबत दिनांक 14.04.2021 को बाईक सवार दो अज्ञात आरोपियों द्वारा गांव गढी बेसक व गांव गढी भरल के बीच के एरिया में उसको डण्डा मारकर उससे उसका बैग जिसमें एक बायोमैट्रिक टैब, चार्जर, पावर बैंक, जरूरी कागजात व कलेक्शन के करीब एक लाख पचास हजार रूप्ये थे को छीनकर मौका से फरार हो जाने बारे दर्ज रजिस्टर किया गया था। जांच में खुलासा हुआ कि इस वारदात को मुदई आशिफ द्वारा ही प्लान तैयार करके अंजाम दिलाया गया था। इस मामले में मुदई आशिफ एक फाईनेंस कंपनी में काम करता है। जिसके पास एक दिन में कलैक्शन के लाखों रूप्ये इक्टठे हो जाते हैं। जिसने तनख्वाह के रूप्यों से काम ना चलने की बात कहकर एक बार में ही अमीर बनने के चक्कर मे अपने ही साथ काम करने वाले एक आरोपी कृष्ण वासी जींद को अपने किन्ही जानकारों से कलेक्शन के रूप्ये लूटने की वारदात को अंजाम दिलाने का प्लान बनाया ताकि लूटने के बाद लूटे गये रूप्यों को आपस में बांट लिया जाये और इस संबंध में थाने में झूठा मामला भी दर्ज कराया जाये। जिस पर कृष्ण के कहने पर उसके ही गांव के रहने वालेे दो आरोपियों प्रवीन उर्फ पिन्ना व सोनू उर्फ लिट्टू वासियान हाट ने मिलकर वारदात को अंजाम दिया था। *इस मामले में आरोपी 1. कृष्ण पुत्र नरेंद्र 2. प्रवीण उर्फ पिन्ना पुत्र धर्मपाल वासियान गांव हाट थाना सफीदो जिला जींद व 3. आशिफ पुत्र रियाज वासी गांव समसपुर जिला सहारनपुर उत्तर प्रदेश को गिरफ्तार किया गया है व चौथा आरोपी सोनू उर्फ लिट्टू अभी फरार चल रहा है। इस मामले में वारदात में इस्तेमाल मोटरसाईकिल को बरामद किया जा चुका है।*

2. मुकदमा नम्बर 137 दिनांक 17.06.2021 धारा 379बी आईपीसी व आर्म्स एक्ट थाना मुनक जिला करनाल। यह मामला शिकायतकर्ता अनिल राणा पुत्र पवन राणा वासी गांव राहडा जिला करनाल जो फाईनेंस कम्पनी घरौंडा ब्रांच में एसएम के पद पर कार्य करता था के ब्यान पर बाबत दिनांक 17.06.2021 को शाम के समय बाईक सवार अज्ञात आरोपियों द्वारा ड्रैन की पटरी पर नजदीक पीर बाबा पर उस पर डण्डों से हमला करके व पिस्तौल दिखा कर उससे उसका बैग जिसमें करीब 98 हजार रूप्ये की नगदी, एक टैबलेट, उसका पर्स व जरूरी कागजात थे उसको छीनकर मौका से फरार हो जाने बारे दर्ज रजिस्टर किया गया। जांच में खुलासा हुआ कि इस वारदात को आरोपी कृष्ण, प्रवीण, आसिफ व जितेंद्र उर्फ ढिल्ला द्वारा मिलकर अंजाम दिया गया था। इस वारदात में शिकायतकर्ता अनिल, आरोपी आसिफ के साथ ही फाईनेंस कंपनी में नौकरी करता था। इस संबंध में आरोपी आसिफ ने ही अपने अन्य साथी आरोपियों को इस बारे सूचना देकर वारदात को अंजाम दिलाया था।

जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी जितेंद्र के खिलाफ पहले वर्ष 2019 में थाना असंध में एक मामला फिरौती के लिये जान से मारने के प्रयास का एक मामला दर्ज रजिस्टर है। इस मामले में आरोपी जमानत पर बाहर चल रहा था। आरोपी कृष्ण, प्रवीण व आशिफ को आज पेश अदालत किया जाकर 04 दिन का पुलिस रिमाण्ड हासिल किया गया। दौराने रिमाण्ड आरोपियों से गहनता से पूछताछ की जायेगी व वारदात में छीने गये रूप्यों व अन्य सामान को बरामद किया जायेगा और फरार आरोपी को गिरफ्तार किया जायेगा।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.