करनाल लोकसभा से एक ओर बाहरी उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतरने को तैयार ,देखें पूरी खबर

0
Advertisement


शेयर करें।
  • 1.9K
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.9K
    Shares

(रिपोर्ट कमल मिढा): करनाल लोकसभा से एक ओर बाहरी उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतरने को तैयार ,करनाल के लोग क्या इस बार भी पसंद करेंगे किसी बाहरी उम्मीदवार को ,यह सवाल आजकल करनाल के हर शख्स की जुबान पर इसलिए आने लगा है क्योंकि लोकसभा चुनाव बिल्कुल नजदीक आ गए है !

Advertisement


वही बाहरी बाहरी का मामला एक बार फिर से विशेष तौर पर करनाल में उठने लगा है क्योंकि अप्रैल में चुनाव होने है और राजनीतिक पार्टियों चाहे वह भाजपा हो या कांग्रेस या फिर इनेलो किसी के पास भी करनाल लोकसभा से अभी तक कोई मजबूत उम्मीदवार सामने नजर नही आ रहा है !

वही हम आपको बता दे कि पिछले एक साल से पूंडरी से भाजपा विधायक दिनेश कौशिक करनाल लोकसभा क्षेत्र में हर त्योहार की शुभकामनाओ जैसे पोस्टर्स लगातार लगवाते आ रहे है ,क्योंकि इस बार का लोकसभा चुनाव अगर हम छोड़ दे तो इतिहास में करनाल लोकसभा से जहाँ काँग्रेस सरकार में 10 साल ब्राह्मण बिरादरी से अरविंद शर्मा एम पी रहे वही उनसे पहले आई डी स्वामी व 4 बार पंडित चिरंजी लाल शर्मा भी सांसद रह चुके है ,ऐसे ओर भी कई नाम है जो सभी ब्राह्मण बिरादरी से रहे ! वही इसी पिछले इतिहास को देखते हुए शायद अब 2019 लोकसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए दिनेश कौशिक भी अपनी प्रोमोशन में लोकसभा चुनावो से एक साल पहले ही लग गए है !

वही आज भी करनाल में आपने सभी अखबारों के पहले पन्ने पर दिनेश कौशिक द्वारा जारी किया गया विज्ञापन देखा होंगा ! देखें वह विज्ञापन

वही इस बारे में जब हमने कुछ करनाल के लोगों व राजनीतिक विशेषज्ञों की रॉय जानी तो उनमें से तकरीबन इस बात से काफी नाराज भी नजर आए ,उन्होंने कहाँ की हमेशा करनाल के साथ ऐसा ही होता आया है जो भी उम्मीदवार यहाँ से चुनाव लड़ता है वह बाहरी ही होता है और जितने के बाद सिर्फ अपना ध्यान रखता है ,कुछ लोगों ने बताया कि इस बार के मौजूदा सांसद अश्वनी चोपड़ा जी को ही ले लीजिए कितने लोग उन्हें जानते ओर पहचानते है वही कुछ लोगों ने यह भी कहा कि 10 साल कांग्रेस से सांसद रहे अरविंद शर्मा भी पिछले 4 साल कहाँ रहे क्या वह करनाल के लोगों के बीच मे उनका हाल चाल जानने पहुँचे ओर अब उनकी भी चर्चाएं है कि वह या तो दुबारा कांग्रेस से क्योंकि कांग्रेस वह छोड़ चुके थे और बसपा में शामिल हो गए थे या फिर किसी ओर पार्टी से चुनाव लड़ सकते है !

वही जब कुछ लोगों की रॉय जानी की क्या करनाल लोकसभा की जनता इस बार दिनेश कौशिक को जिताएँगी तो उनमें से काफी लोगों ने कहाँ नहीं वही बाकी बचे कुछ ने कहाँ अगर सामने कोई और सही उम्मीदवार ही न हुआ तो मजबूरी हो जाएंगी उन्हें ही वोट देना !

क्या दिनेश कौशिक को मिल सकती है टिकट ?

यह सवाल भी बड़ा गंभीर है कि आने वाले समय मे क्या पूंडरी से विधायक दिनेश कौशिक को पार्टी करनाल लोकसभा की टिकट देंगी या नहीं !


शेयर करें।
  • 1.9K
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.9K
    Shares
Advertisement









LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.