करनाल 33 करोड़ रूपए से बनने वाले नगर निगम कार्यालय का 1 साल से रुका पड़ा काम ,देखें पूरी खबर

0
Advertisement


शेयर करें।
  • 314
  •  
  •  
  •  
    314
    Shares

करनाल के सेक्टर-12 स्थित नगर निगम के भवन निर्माण में हो रही देरी के चलते मुख्यालय ने इस मामले में कड़ा संज्ञान लिया है ! प्रधान सचिव अर्बन लोकल बॉडी ने करनाल निगम अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर कई सवाल खड़े किए हैं ! उन्होंने अधिकारियों को मंगलवार को बैठक में बुलाया था, लेकिन किन्हीं कारणों से बैठक तो स्थगित हो गई, उनको आगामी बैठक में पूरा डाटा लेकर पंचकुला तलब किया गया है !
भवन निर्माण में देरी क्यों हो रही है? अब तक निगम अधिकारियों ने क्या किया? यह पूरा होमवर्क लेकर निगम आयुक्त को पूरी टीम के साथ बैठक में पहुंचना है ,हालांकि इससे पहले प्रधान सचिव ने इस लेटलतीफी को लेकर अधिकारियों को झाड़ भी लगाई है !

करनाल नगर निगम के नए भवन करीब 33 करोड़ रुपये खर्च होने हैं ,एक साल से काम बंद है ! कायदे से यह भवन जनवरी-2018 में कंप्लीट हो जाना चाहिए था ! गौरतलब है कि निगम के नए भवन की 15 जनवरी, 2016 को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शिलान्यास किया था ,तब दावा किया गया था कि दो साल में दो मंजिला भवन बनकर तैयार हो जाएगा ,लेकिन इसका केवल सिविल वर्क ही अभी तक पूरा हो पाया है ! विभाग द्वारा लिए गए इसके सैंपलों में भी खामियां पाई थी, ऐसे में कार्य बंद पड़ा है ! इसको लेकर भी निगम के अधिकारियों के पास कोई जवाब नहीं है की निगम का भवन बदलने की क्यों जरूरत पड़ी !

Advertisement


वर्तमान में बना नगर निगम का कार्यालय शहर की जनसंख्या के हिसाब से छोटा पड़ गया था , यहां पर अपने कार्यों से आने वाले लोगों को खड़े होने तक की जगह नहीं मिल पाती थी ! गृहकर जमा कराने के दौरान शहरवासियों को जो दिक्कतें हुई उन्हें वे लोग भूले नहीं है , बाइक तो दूर साइकिल तक खड़ा करने में लोगों को जगह नहीं मिल पाती थी ,कार्यालय के सामने जाम की स्थिति बनी रहती थी ! जिस कारण कार्यालय बदलने का निर्णय लिया गया था !

अभी वर्किंग वूमैन हॉस्टल में चल रहा है निगम कार्यालय

नगर निगम के स्थाई कार्यालय के लिए सेक्टर-12 में निर्माण कार्य तो शुरू किया गया था लेकिन यह रूका हुआ है ! फिलहाल वर्किंग वूमैन हास्टल में नगर निगम का कार्यालय चल रहा है, कामकाजी महिलाओं के लिए 1887 में वर्किंग वुमन हॉस्टल बनाया गया था ! 36 कमरों वाले वर्किंग वूमैन हॉस्टल में काम चल रहा है, यहीं पर बैठकर ही स्मार्ट शहर की योजनाओं पर मंथन हो रहा है ! वर्ष 1985 में घंटाघर चौक के पास करनाल नगरपालिका के कार्यालय की स्थापना की गई थी, इसके बाद 17 मार्च 2010 को करनाल नगर पालिका को करनाल नगर निगम बना दिया गया था !


शेयर करें।
  • 314
  •  
  •  
  •  
    314
    Shares
Advertisement













LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.