अपराधीक गोष्ठी में एस.पी. दिखे सख्त रूख में कहा अब मुझे प्रयास नहीं परिणाम चाहिए

0
Advertisement

 आज दिनांक 13.12.17 को पुलिस अधीक्षक करनाल श्री जषनदीप सिंह रंधावा भा.पु.से. द्वारा कैथल रोड़ करनाल पर स्थित नई पुलिस लाईन करनाल के सभागार में अपराधों की समीक्षा को लेकर गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस गोष्ठी में जिला पुलिस करनाल के सभी उप-पुलिस अधीक्षकों व थाना प्रबंधकों और चैंकी इन्चार्जो ने भाग लिया।
    पुलिस कप्तान ने निर्देष देते हुए प्रबंधक शहरी यातायात से कहा कि शहर की सड़कों और अन्य नौ पार्किंग स्थानों पर खड़े वाहनों को वहां से लिफट करके हटाए व उनके चालान करें और यदि कोई दूकानदार या अन्य व्यक्ति सड़क पर अपनी दूकान या मकाने सामने सामान रखता है, जिससे उस स्थान का यातायात प्रभावित हो रहा है, ऐसे किसी भी व्यक्ति को बख्शा न जाए और उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही अमल लाई जाए। इसके साथ ही उन्होंने उप-पुलिस अधीक्षक यातायात, करनाल और प्रबंधक थाना हाईवे करनाल को कहा कि वे हाईवे के अवैध कटों को प्राथमिकता के आधार पर लें और जितना जल्द संभव हो सके उन्हें बंद करवाएं। उन्होंने कहा कि हर शुक्रवार जीरो टोलरेंस डे पर ओर भी अधिक सख्ती से कार्यवाही करें, केवल चालान काटने पर बल न दें, बल्कि बदलाव के लिए प्रयास करें। उन्होंने माईडींग इन्चार्ज को अवैध माईडींग पर पूरी तरह से रोक लगाने के आदेष दिए और साथ ही एस.एच.ओ. हाइवे को ओवर लोड वाहनों को सड़क से हटाने के आदेष दिए।
     उन्होंने प्रबंधक थाना शहर करनाल, प्रबंधक थाना सिविल लाईन और प्रबंधक थाना सदर को चोरी व स्नैचिंग जैसी वारदातों पर रोक लगाने के लिए थाना क्षेत्रों में ओर अधिक नाके लगाने, गस्त बढ़ाने के आदेष दिए। उन्होंने कहा कि सभी कंट्ल रूम से आने वाली वी.टी. व मैसेज पर तुरंत कार्यवाही करते हुए पिड़ित को कम से कम समय में मदद पहुंचाना सुनिष्चित करें। उन्होंने कहा कि मित्र कक्षों के सभी कार्य निर्धारित समय में पूरे होने चाहिए, लापरवाही की सूरत में संबंधीत अधीकारी या कर्मचारी स्वयं जिम्मेवार होगा। क्योंकि उसके खिलाफ सख्त विभागीय कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि अधिकारी सी.एम. विंडो और हरसमय से आने वाली षिकायतों का निपटारा भी समय पर और प्राथमीकता के आधार पर करें, यदि ऐसा नहीं हुआ तो ऐसे अधिकारी उच्च पदों पर ज्यादा दिन नहीं रहेगें।
   श्री रंधावा ने कहा कि सर्दी के मौसम में चोर गिरोह भी काफी सर्कीय हो जाते हैं, जिन्हें रोकने के लिए सभी अपने क्षेत्र के गांवों में ग्रामपंचायतों से बात कर ठिकरी पहरा लगवाने के लिए कहें। उन्होंने कहा अपराधों पर अंकुष लगाने के लिए हर सप्ताह दो डोमिनेषन अभियान चलाए जाएगें, जो एक इवनिंग व एक नाईट डोमिनेषन होगा। इनके लिए कोई दिन निर्धारित नहीं किया जाएगा, बल्कि इनके लिए तुरंत आदेष जारी किया जाएगा। अंत में पुलिस कप्तान ने कहा कि अब बहुत हो चुका और अपराधों को रोकने के लिए मुझे अब प्रयास नहीं, अनुकुल परिणाम चाहिए, यदि किसी क्षेत्र के परिणाम अच्छे नहीं हुए तो संबंधीत अधिकारी या कर्मचारी कोई भी हो बख्शा नहीं जाएगा।
Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.