स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के परिणाम घोषित, राष्ट्रीय स्तर पर करनाल को मिला 17वां रैक, हरियाणा में है प्रथम

0
Advertisement



  • रैंकिंग में रोहतक को मिला 35वां स्थान,
  • पंचकुला 56 व गुरूग्राम रहा 62वें स्थान पर,
  • टॉप 20 में सम्मानजनक स्थान प्राप्त करने के लिए निगमायुक्त निशांत कुमार यादव ने शहरवासियों को दी बधाई।

करनाल 20 अगस्त: स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के परिणामो की घोषणा हो चुकी है। एक लाख से 10 लाख की आबादी वाले शहरो की श्रेणी में टॉप 20 शहरों में शुमार करनाल को 17वां रैक मिला है। रोहतक 35वें स्थान पर, पंचकुला 56वें तथा गुरूग्राम को 62वां रैंक हासिल हुआ है। यही नहीं गारबेज फ्री सिटी के सर्वेक्षण में करनाल को 3 स्टार मिले हैं और यह शहर ओ.डी.एफ. प्लस-प्लस भी हो गया है।

गुरूवार को परिणामो की घोषणा के साथ करनाल के नाम कई उपलब्धियां रही। इसके लिए उपायुक्त एवं नगर निगम के आयुक्त निशांत कुमार यादव ने सभी शहरवासियों को बधाई दी है।

Advertisement


स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के परिणामो में करनाल जिला की नगर पालिकाओं को भी सम्मानजनक स्थान प्राप्त हुआ है। उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने बताया कि 25 हजार आबादी की श्रेणी में जिला की नीलोखेड़ी नगर पालिका को उत्तर भारत में 32वों स्थान मिला है। इन्द्री 52वें स्थान पर जबकि निसिंग को 83 रैंक मिला।

उन्होंने बताया कि उत्तर भारत में ही 25 से 50 हजार आबादी की नगर पालिकाओं में जिला की तीन नगर पालिकाएं टॉप 100 में रही हैं। रैंकिंग में घरौंडा नगर पालिका 31वें स्थान पर, असंध 41वें तथा तरावड़ी को 83वां स्थान हासिल हुआ है। घरौंडा नगर पालिका ओ.डी.एफ. प्लस-प्लस तथा नीलोखेड़ी व इन्द्री नगर पालिका को ओ.डी.एफ. प्लस घोषित किया गया है।

करनाल के रैक पीकर्स को केन्द्र की ओर से मिली सराहना- केन्द्रीय आवासन एवं शहरी मामले विभाग के मंत्री हरदीप सिंह पूरी ने नई दिल्ली में आयोजित स्वच्छ महोत्सव कार्यक्रम के माध्यम से करनाल शहर के रैक पीकर्स के कार्य की सराहना की और नगर निगम के साथ सम्बद्घ किए जाने पर निगमायुक्त को बधाई दी। शहर के मेरठ रोड स्थित नगर निगम के मैटिरियल रिकवरी फैसिलिटी सेंटर पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित करनाल के सोनू व बच्ची देवी रैक पीकर के साथ केन्द्रीय मंत्री हरदीप सिंह पूरी ने संवाद किया और प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन के बाद स्वच्छता और इसके प्रभाव तथा लोगो के व्यवहार में बदलाव जैसे सवाल किए।

रैक पीकर सोनू ने बड़े विश्वास के साथ बताया कि पहले गली-गली जाकर कूड़ा बीनते थे, अब नगर निगम के साथ जुड़ जाने पर एक जगह से ही कूड़ा बीनने का काम करना पड़ता है। उनसे बताया कि उसे प्रधानमंत्री की जन कल्याण योजनाओं का लाभ मिला है, जिसमें नि:शुल्क गैस कनैक्शन, शौचालय मिले हैं। प्रधानमंत्री जन-धन योजना में जीरो बैलेंस पर बैंक में खाता खुल गया है तथा आयुषमान भारत का कार्ड भी बन गया है।

बीपीएल राशन कार्ड पर मिलने वाली सभी सुविधाएं भी मुझे मिल रही हैं। सोनू ने बताया कि उसके बच्चे भी स्कूलो में पढ़ रहे हैं और आय में भी कई गुणा वृद्घि हो गई है। इन सहूलतो के साथ वह खुशी से अपने परिवार के साथ जीवन बसर कर रहा है।

दूसरी रैक पीकर बच्ची देवी ने केन्द्रीय मंत्री के सवालो के जवाब में बताया कि उनके पहले कच्चे मकान थे, अब प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पक्के मकान बन गए हैं। उनके घर में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत गैस सिलेण्डर उपलब्ध है और सरकार की ओर से शौचालय भी बनवाया गया है।

मेरे पास हमार व्यक्तिगत शौचालय है। मेरा आयुषमान कार्ड भी बना हुआ है, जिससे मैं मुफ्त ईलाज करवा सकती हूँ। सरकार द्वारा बनाए गए बीपीएल राशन कार्ड के भी सभी लाभ मुझे मिल रहे हैं। प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत बैंक में मेरा खाता में खुलवा दिया गया है, जिससे सरकारी योजनाओं के लाभ सीधे मेरे खाते में आते हैं। इसके लिए वे प्रधानमंत्री तथा नगर निगम करनाल के आभारी हैं।

बच्ची देवी ने बताया कि नगर निगम करनाल द्वारा हमार पंजीकरण हमे एक नई पहचान दी है। एक ही स्थान पर कूड़ा-कचरा बीनने से हमारी आय में बढ़ोतरी हो रही है। सोनू और बच्ची देवी के साथ शहर के एक दर्जन रैक पीकर्स भी स्वच्छ महोत्सव में शामिल हुए।

इस कार्यक्रम में शहरी स्थानीय निकाय के निदेशक अमित अग्रवाल, डीएमसी धीरज कुमार, ईओ दीपक सूरा, मुख्य सफाई निरीक्षक महावीर सिंह सोढी व सुरेन्द्र चोपड़ा, सफाई निरीक्षक भी मौजूद रहे।

 





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.