करनाल पुलिस ने लुट की वारदात को अंजाम देने वाले को दो घंटे के अंदर पहुंचाया सलाखों के पिछे

0
Advertisement


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दिनांक 07.03.18 की सुबह करीब 08ः50 पर पुलिस कंट्ोल रूम करनाल में वजीर चंद कालोनी करनाल के रहने वाले 83 साल के बुजुर्ग व्यक्ति गोविंद लाल मदान ने फोन करके बताया कि उसके घर में नौकरी करने वाला नरेन्द्र कुमार पुत्र देवराम वासी दिल्ली अभी कुछ समय पहले चाकू की नौक पर उससे एक सोने का कड़ा और एक अंगुठी लूटकर फरार हो गया है।

कंट्रोल रूम से तभी वी.टी. करके नाकाबंदी करवाई गई और थाना सिविल लाईन की पी.सी.आर-08 को मौके पर पहुँचने के आदेष दिए गए। सुचना मिलते ही पी.सी.आर. 08 के इन्चार्ज ए.एस.आई. गोविंद राम अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और उन्होंने बुजुर्ग व्यक्ति गोविंद लाल मदान से बातचीत कर आरोपी का नाम, उसका हुलिया और उसके कपड़ों के बारे में पुछा व उनसे आरोपी का मोबाईल नंबर भी लिया।

Advertisement


अपनी सुझबुझ का परिचय देते हुए ए.एस.आई. गोविंद राम ने आरोपी को फोन किया और आरोपी ने तुरंत उनका फोन भी उठा लिया, उन्होंने स्वयं आरोपी के साथ दिल्ली से उसका मित्र बनकर बात की और उसे कहा कि वह उसके मालिक से उसकी तनख्वाह के बारे में बात करने के लिए करनाल आया है व उसकी तनख्वाह दिलाएगा।

इसके साथ ही उन्होंने उससे कहा कि उन्होंने उसके लिए एक सरकारी नौकरी की बात भी कर ली है और बहुत जल्द उसे सरकारी नौकरी मिल जाएगी। जिससे वह उनकी बातों के झांसे में आ गया। तब उन्होंने उससे पुछा के इस समय वह कहां पर है, तो उसने बताया कि वह घरौंडा रेलवे स्टेषन के पास मौजुद है। तो गोविंद राम ने उससे वहीं रूकने के लिए कहा और कहा कि वह कुछ ही देर में उसके पास पहुंच जाएगा।

इसके बाद उन्होंने बुजुर्ग के एक पड़ोसी को आरोपी की पहचान करने के लिए अपने साथ लिया और घरौंडा में रेलवे स्टेषन के पास छोले-कुल्चे वाले की रेहड़ी पर बैठे आरोपी कोे काबू कर करनाल लाया गया।

पुलिस टीम द्वारा उसके कब्जा से बुजुर्ग से छीना गया सोने का कड़ा व अंगुठी बरामद की गई। इसके खिलाफ थाना सिविल लाईन में मुकदमा नं0- 392/07.03.18 धारा 392 भा.द.स. के तहत दर्ज किया गया।

पुलिस अधीक्षक करनाल श्री जषनदीप सिंह रंधावा भा.पु.से. ने ए.एस.आई. गोविंद राम के कार्य की सराहना करते हुए, उन्हें प्रषंसा पत्र व नकद इनाम देने की घोषणा की। इसके साथ ही उन्होंने अन्य कर्मचारीयों को भी उनसे प्रेरणा लेकर अपने कार्य को पूरी जिम्मेवारी, लगन, मेहनत और सेवार्थ भाव से करने के लिए कहा।


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Advertisement









LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.