करनाल पुलिस ने इस वर्ष 2018 में हासिल की कई बड़ी उपलब्धियां ,देखें पूरी खबर

0
Advertisement


शेयर करें।
  • 1.2K
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.2K
    Shares

वर्ष 2018 समाप्त होने वाला है वही अगर करनाल पुलिस के इस वर्ष के कार्यकाल की बात करे तो ऐसे कई उपलब्धियां करनाल पुलिस के हाथ लगी ,कई बड़े बड़े मामले सुलझाने में करनाल पुलिस आगे रही वही कई बड़े मामले ऐसे भी है जिसमें करनाल पुलिस उनको ट्रेस करने के काफी नजदीक भी पहुँच गई है ! देखें यह खबर 

Advertisement


पुलिस अधीक्षक करनाल सुरेन्द्र सिंह भौरिया के नेतृत्व में कार्य करते हुए जिला पुलिस सुरक्षित करनाल के लिए सदैव तत्पर रही है ! जनता को भय मुक्त माहौल प्रदान करने में व महिलाओं की सुरक्षा को सर्वपरी हित रखते हुए और मित्रता पूर्ण संबंधों को प्रगाढ़ करने में सदैव अग्रणीय रही है। इसी दिषा में एक ओर कदम बढ़ाते हुए, साल 2018 में जिला पुलिस द्वारा हरियाणा सरकार के सहयोग से दिनांक  को जिला करनाल के कस्बा असंध में महिलाओं की सुरक्षा को पुख्ता करते हुए महिला थाना की स्थापना की गई।

इसके साथ ही दूर्गा शक्ति हरियाणा पुलिस एप्लिकेषन लांच की गई, जिसके माध्यम से मुसीबत के समय महिलाएं तुरंत महिला हैल्पलाईन को काल कर सकती हैं। उनकी इस काल पर कार्यवाही के लिए रैपिड एक्षन फोर्स का गठन भी किया गया है, जिसका मुख्य उदेष्य मुष्किल में फंसी महिलाओं को तुरंत सहायता पहुंचाना है। करनाल पुलिस का मुख्य उददेष्य दूर्गा शक्ति ऐप हरियाणा पुलिस के माध्यम से महिलाओं को सरल व सुगम तरीके से सहायता पहुंचाना है !

मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल खटर द्वारा 30.03.18 को पुलिस कंट्रोल रूम करनाल में सी.सी.टी.वी.कंट्रोल रूम करनाल का उदघाटन किया गया था। जिसके तहत पुरे शहर में 129 कैमरे लगाए गए, जिनकी मदद से जिला पुलिस द्वारा पूरे शहर की निगेबानी की जा रही है। अपराध व यातायात नियंत्रण के लिए ये कैमरे पुलिस की तिसरी आंख के रूप में कार्य कर रहे हैं और यह काफी कारगर सिद्व हुए हैं। उपरोक्त के माध्यम से यातायात के नियमों की उल्लंघना करने वाले कुल 12,076 वाहन चालकों के चालान किए गए हैं।

यदि शहर के किसी भी हिस्से में किसी कारण से यातायात अवरूध होता है, तो तुरंत यातायात पुलिस को उसकी जानकारी देकर यातायात को सुचारू रूप से चलवाया जाता है। अपराध नियंत्रण में भी सी.सी.टी.वी. कैमरों की भूमिका काफी महत्वपूर्ण रही है। इनकी मदद से जिला पुलिस द्वारा 22 वारदातों को सुलझाया गया है, जिनमें से मुख्य रूप से दिनांक 15.04.18 को विकास कालोनी करनाल से दिन के समय एक घर में गृहणी व उसके बच्चे को हथियार के बल पर बंधक बनाकर पैसे व जेवरात लूट कर ले गए थे।

एक अन्य वारदात में कैमरों की मदद से दिनांक 25.08.18 को जी.टी. रोड़ पर सै0-06 बस स्टाप से एक महिला के हाथ से सोने के कंगन काट लेने वाले महिला गिरोह को मौके पर ही गिरफतार किया गया था। इसके अलावा इनके मदद से किसी चैंक पर कोई यातायात दूर्घटना होने पर तुरंत एम्बुलेंस व पुलिस सहायता पहुंचाई जाती है !

करनाल पुलिस द्वारा सड़कों पर आए दिन होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए और सड़कों को सुरक्षित बनाने के लिए शहर में स्कूली बच्चों की भागीदारी से यातायात जागरूकता अभियान चलाए गए हैं। इनके माध्यम से आमजन को यातायात के नियमों के प्रति जागरूक करने के लिए पुलिस अधीक्षक करनाल स्वयं स्कुली बच्चों के साथ कदम से कदम मिला कर चलते हैं। बच्चों को यातायात के नियमों का पाठ पढ़ाने के लिए षिक्षण संस्थानों में प्रष्नोतरी प्रतियोगिताएं आयोजित की गई !

जिला पुलिस द्वारा महिलाओं की सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए साल 2018 में अलग-अलग समय पर आपरेषन दुर्गा आयोजित किया गया। जिसके माध्यम से षिक्षण संस्थानों व सार्वजनिक स्थानों और पब्लिक ट्रांसपोर्ट के आसपास मनचलों पर षिकंजा कसा गया।

महिलाओं के साथ बातचीत कर उन्हें अधिकारों के प्रति जागरूक किया गया व उनकी असुविधाओं को दूर किया गया, जिससे करनाल में महिलायें स्वंय को सुरक्षित महसुस कर पूर्ण स्वंतत्रता के साथ अपना जीवन निर्वाह कर रहीं हैं !

वर्ष 2018 में जिला पुलिस द्वारा दो बार आपरेषन मुस्कान का आयोजन किया गया। जिसका मकस्द अपने माता-पिता से बिछड़े बच्चों को उनके परिवार से मिलाकर उनके चेहरों पर मुस्कान लाना था। पहला आपरेषन मुस्कान 1,मार्च 2018 से 31,मार्च 2018 तक चलाया गया, जिसके दौरान कुल 40 गुमषुदा बच्चे प्राप्त हुए, जिनमें से 36 बच्चों को उनके माता-पिटा से मिलवाया गया व 04 बच्चों को शैल्टर होम में पहुंचाया गया। दूसरा अपरेषन मुस्कान 1,अप्रैल 2018 से 30,अप्रैल 2018 तक चलाया गया, जिसके दौरान कुल 92 गुमषुदा बच्चें प्राप्त हुए, जिनमें से 89 बच्चों को उनके परिजनों को सौंपा गया व 03 को सैल्टर होम में भेजा गया !

अपराध नियंत्रीत करते हुए जिला पुलिस करनाल ने निम्नलिखित उपलब्धियां हासिल की हैं जो मुख्य रूप से इस प्रकार से है:—– वर्ष-2018 में जिला पुलिस करनाल द्वारा 10 नामचित ईनामी बदमाषों को गिरफतार किया गया, जिसमें मुख्य रूप से तिहरे हत्याकांड का एक आरोपी नरेष उर्फ बांदरी जिसपर 10,000 रूपये ईनाम था को गिरफतार किया गया।

इस वर्ष में पुलिस द्वारा भिन्न अपराधों में 58 गैंग गिरफतार किए गए, जिनमें कुल 140 अपराधियों को गिरफतार कर 298 मामलों को सुलझाया गया और 2,45,68,080 रूपये की सम्पती बरामद की गई। इन गैंगों से वारदातों के समय इस्तेमाल की गई, 12 पिस्तौल और 17 कारटेज व 03 मोटर साईकिल 102 सी.आर.पी.सी. में और 02 चाकू बरामद किए गए !


संक्षिप्त विवरण:—– 

क्राइम हैड  गैंग  गिरफतार अपराधी  केस वर्क आउट  बरामदगी 

वाहन चोर 30 66 125 1,70,56,500 रूपये, 07 पिस्तौल, 12 कारटेज , 02 चाकु

स्नैचिंग 11 20  39  13,16,000 रूपये, 01 पिस्तौल, 01 कारटेज, 01 मोटर साईकिल 102 सी.आर.पी.सी. 

रोबरी  03 12 17 12,73,000 रूपये, 04 पिस्तौल, 04 कारटेज, 02 मोटर साईकिल 102 सी.आर.पी.सी. 

बर्गलरी 09 25 31 19,45,800 रूपये 

चोरी  03 07 12  09,72,280 

ट्रांसफार्मर चोर  02 09 72 18,00,000 


वर्ष-2018 में जिला पुलिस द्वारा कुल 154 उदघोषित अपराधीयों (पी.ओ.) को गिरफतार किया गया, 275 बेल जंपर और 02 पैरोल जंपर गिरफतार किए गए।   

जिला पुलिस द्वारा वर्ष-2018 में करनाल में हुए नगर निगम चुनावों को शांतिपूर्ण व निष्पक्ष ढ़ंग से सम्पन्न करवाना एक सराहनीय कार्य था। चुनावों के दौरान जिला प्रषासन के साथ मिलकर संवेदनषील व अतिसंवेदनषील बुथों की पहचान की गई, जिनपर सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए विषेष प्रबंध किए गए और अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया।

चुनावों के दौरान अपराधीक गतिविधियों को रोकने के लिए जिला पुलिस द्वारा एक विषेष अभियान चलाया गया, जिसके तहत अपराधीयों पर नकेल कसते हुए पुलिस ने 14 पी.ओ. (उद्वघोषित) और 13 बेलजंपर गिरफतार किए गए थे व 365 किलोग्राम डोडापोस्त, 16.54 ग्राम स्मैक, 928 ग्राम चरस, 49.78 ग्राम अफीम, 584 बोतल देषी शराब, 96 बोतल अंग्रेजी शराब और 50 किलोग्राम लाहन बरामद किया गया था।    

 


शेयर करें।
  • 1.2K
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.2K
    Shares
Advertisement









LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.