करनाल पुलिस ने 36 घंटे में सुलझाया दिन दहाड़े हुई हत्या की वारदात का मामला

0
Advertisement


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

जैसा कि विदित है दिनांक 23.07.18 को प्रबंधक थाना शहर करनाल निरीक्षक मोहनलाल को किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा फोन करके पुरानी सब्जी मंडी करनाल में काफी लोगों के बीच चल रहे लड़ाई झगड़े की सुचना दी गई थी। सुचना मिलते ही प्रबंधक थाना अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। वहां पर एक व्यक्ति लहुलुहान अचेत अवस्था में पड़ा था, जिसे तुरंत कल्पना चावला मैडिकल कालेज करनाल में पहुंचाया गया, जहां पर डाक्टरों द्वारा उसे मृत घोषित कर दिया गया। मृत्क की पहचान आटो चालक शीषपाल वासी नलीपार के रूप में हुई।

Advertisement


पुलिस टीम द्वारा मृत्क के मामा धर्मबीर वासी नलीपार की षिकायत पर एक अन्य आटो चालक राजेन्द्र उर्फ काला पुत्र जरनैल सिंह वासी रसुलपुर व उसके साथीयों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।

धर्मबीर ने पुलिस को दी अपनी षिकायत में बताया कि इससे पहले भी आरोपी राजेन्द्र के साथ दिनांक 20.07.18 को शीषपाल का सवारी बैठाने को लेकर झगड़ा हुआ था, जिसमें आरोपी ने शीषपाल को जान से मारने की धमकी दी थी। उस दिन का बदला लेने के लिए ही उसने अपने साथीयों के साथ मिलकर आज शीषपाल की हत्या कर दी। उसकी षिकायत पर पुलिस द्वारा थाना शहर करनाल में मुकदमा नं0- 885/18 धारा 148,149,302 भा.द.स. के तहत दर्ज किया गया।

जैसे ही यह मामला पुलिस अधीक्षक करनाल श्री सुरेन्द्र सिंह भौरिया के संज्ञान में आया तो उन्होंने तुरंत प्रबंधक थाना शहर निरीक्षक मोहनलाल को मामलें की जांच करके जल्द से जल्द आरोपीयों को गिरफतार करने के निर्देष दिए। प्रबंधक थाना द्वारा घटना स्थल से साक्ष्य एकत्रित कर तत्काल प्रभाव से आरोपीयों की तलाष शुरू की गई और उनके प्रयास 36 घंटे में ही सफलता में बदल गए। आज दिनांक 25.07.18 को उन्होंने अपनी टीम के साथ चार आरोपीयों!

  1. राजेन्द्र उर्फ काला पुत्र जरनैल सिंह,
  2. संटी उर्फ रोहित पुत्र रत्ना,
  3. सचिन उर्फ सावन पुत्र जयसिंह वासीयान गांव रसुलपुर जिला करनाल और
  4. राहुल उर्फ ज्ञानी पुत्र अजमेर वासी कैरवाली जिला करनाल को गिरफतार किया।

इन सभी को अलग-अलग स्थानों रसुलपुर, करनाल व गांव कैरवाली से गिरफतार किया गया।

पुछताछ पर आरोपीयों ने बताया कि दिनांक 20.07.18 को हुए झगड़े के बाद वह शीषपाल से बदला लेने की सोच रहा था कि दिनांक 23.07.18 को शीषपाल ने उसके रूट की सवारी को बिठा लिया, जिससे फिर से दोनों में झगड़ा होने लगा।

तभी राजेन्द्र ने अपने गांव वाले संटी उर्फ रोहित को फोन करके कहा कि उसका किसी के साथ झगड़ा हो गया है, वह तुरंत अपने गांव व कालेज के लड़कों को लेकर पूरानी सब्जी मंडी में पहुंच जाए। कुछ देर बाद संटी दोस्तों सहित मोटर साईकिलों पर सवार होकर वहां पहुंच गया और उन्हें देखते ही राजेन्द्र ने शीषपाल से झगड़ा शुरू कर दिया।

इस झगड़े के दौरान ही उन लड़कों में से एक ने शीषपाल को चाकू मार दिया और उसकी मौत हो गई। जिसके बाद सभी अपनी-अपनी मोटर साईकिलों पर सवार हो वहां से भाग गए।

बरामदगी:—-

पुलिस टीम द्वारा आरोपीयों के कब्जा से वारदात के समय प्रयोग की गई 02 मोटर साईकिल व एक आटो बरामद किया गया। आरोपीयों से उनके अन्य साथीयों व बरामदगी के संबंध में पुछताछ के लिए उनकों अदालत के सामने पेषकर पुलिस रिमांड हासिल किया जाएगा।

आरोपीयों के अन्य साथी

  1. मुनीष व
  2. विकास वासीयान रसुलपुर,
  3. अजय व
  4. लक्ष्य वासीयान कैरवाली और
  5. सुमित व
  6. काका वासीयान कालरम

पुलिस टीमों द्वारा सरगर्मी से तलाष जारी है, जिन्हें बहुत जल्द गिरफतार कर सलाखों के पिछे पहुंचाया जाएगा।


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Advertisement













LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.