करनाल पुलिस ने 24 किलो गांजा पत्ती के साथ 2 महिला नशा तस्कर को किया गिरफ़्तार ,देखें Live

0
Advertisement


Live – देखें – Big News – करनाल पुलिस ने 24 किलो गांजा पत्ती के साथ 2 महिला नशा तस्कर को किया गिरफ़्तार ,देखें Live – Watch,Comment & Share


Advertisement


करनाल पुलिस की युनिट एंटी नारकोटीक सेल के इन्चार्ज उप-निरीक्षक सुभाष चन्द्र को गुप्त सुत्रों के हवाले से नषा तस्करों के संबंध में सुचना प्राप्त हुई। सुचना मिलते ही सुभाष चन्द्र द्वारा अपनी टीम के साथ संबंधीत स्थान ढ़हा बस्ती मंगल कालोनी करनाल में छापेमारी की गई, पुलिस टीम द्वारा मौके पर ही दो महिला तस्करों….. चन्द्रमुखी उर्फ चन्द्रो पत्नी जसमेर सिंह और चांदनी देवी उर्फ चंदा पत्नी बिटृटू वासीयान वार्ड नं0-06 ढ़हा बस्ती मंगल कालोनी करनाल को गिरफतार किया गया।

दोनों तस्करों के कब्जे से पुलिस द्वारा 24.200 किलोग्राम गांजा पती बरामद की गई। पुलिस पुछताछ पर दोनों आरोपीयों द्वारा अपने एक अन्य साथी….. बिटृटू पुत्र जसमेर सिंह वासी वार्ड नं0-06 ढ़हा बस्ती मंगल कालोनी करनाल के संबंध में खुलासा किया गया। आरोपी बिटृटू आरोपीया चांदनी देवी उर्फ चंदा का पती है।

नारकोटीक सेल की टीम द्वारा तीनों आरोपीयों के खिलाफ संबंधीत थाना, थाना शहर करनाल में मुकदमा नं0- 42/19.01.2020 धारा एन.डी.पी.एस. एक्ट के तहत दर्ज किया गया। पुलिस द्वारा की गई पूछताछ पर दोनों आरोपीयों ने बताया कि नषे की यह खेप वे लोग इन्द्रा कालोनी दिल्ली से लेकर आए थे और यहां पर उन्होंनें नषे की इस खेप को थोड़ी-थोड़ी मात्रा में बांटकर व कई गुणा महंगें दामों पर बेचकर पैसे कमाने की योजना बनाई थी।

इस संबंध में जानकारी देते हुए नारकोटीक सेल के इन्चार्ज उप-निरीक्षक सुभाष चन्द्र ने बताया कि आज दिनांक 20.01.2020 को दोनों महिला तस्करों को माननीय अदालत के सामने पेषकर पुलिस रिमांड हासिल किया जाएगा व दौराने रिमांड गहनता से पूछताछ कर पता लगाया जाएगा कि यहां पर इस खेप को उन्होंनें किसे सप्लाई करना था और उनके ठिकानों के संबंध में जानकारी जुटाकर उनके तिसरे साथी आरोपी….. बिटृटू को भी बहुत जल्द गिरफतार किया जाएगा।

साथ ही यह भी पता लगाया जाएगा कि वे कब से नषे का यह कारोबार कर रहे हैं और कौन-कौन उनके इस कारोबार में उनका सहयोगी है।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.