प्रवासी भारतीय दिवस के उपलक्ष्य में एक विशेष बैठक का आयोजन किया गया

0
Advertisement


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रवासी भारतीय दिवस के उपलक्ष्य में आज सेक्टर-3 स्थित तुषार राजकुल भवन में एक विशेष बैठक का आयोजन किया गया जिसमें समाज के विभिन्न वर्गों के समाजसेवी एवं बुद्धिजीवी व्यक्तियों ने भाग लिया। बैठक की अध्यक्षता प्रवासी भारतीय अभिभावक संघ के अध्यक्ष ठाकुर राजबीर सिंह चौहान ने की। श्री चौहान ने एन0आर0आई0 परिवारों को बधाई देते हुए कहा कि भारत वर्ष के चार लाख प्रवासी भारतीय अपने देश में प्रतिवर्ष 5 लाख करोड़ का विदेशी पुंजी निवेश करते हैं, जो दुनिया के किसी भी अन्य देश की तुलना में सबसे अधिक एफडीआई है। यह दुख की बात है कि हरियाणा प्रदेश में विदेशी पूँजी निवेश कठिन दौर से गुजर रहा है, क्योंकि एचएसआईडीसी की ओद्योगिक सुरक्षा नीति स्पष्ट नहीं है।
सजग समाज पत्रिका के  संचालक इजि0 शमशेर सिंह सन्धु के प्रस्ताव पर सर्वसम्मति से मांग की गई है कि फिल्म पदमावत पर कुछ राज्यों में ही नहीं बल्कि पूरे देश में रोक लगानी चाहिए। यह फिल्म वीर नारियों का अपमान है। रानी पद्मिनी को डंासर के तौर पर प्रदर्शित करना ही घोर निन्दनीय है। फिल्म में ऐसे सैंकड़ो सीन हो सकते हैं जो वीरांगनाओं के मान-सम्मान के गौरव की रक्षा के मद्देनज़र कतई स्वीकार्य नहीं होंगे। यह फिल्म समाज में जहर घोलने का काम करेगी।
कैप्टन तेजबीर सिंह एवं सी0पी0ओ0 राकेश मेहता के प्रस्ताव पर 15 जनवरी सेना दिवस के उपलक्ष्य में एक स्वर में भारतीय सेना के अधिकारियों, जे0सी0ओज्, जवानों और उनके परिवारों को बधाई संदेश प्रेषित किया गया। बैठक में उपस्थित समाज सेवी प्रो. भाग सिंह आर्य, ठाकुर महेन्द्र सिंह, बलबीर सिंह गोरा, सतपाल राणा, जगपाल सिंह, राजेश गोयल एवं कंवर कैलाश चौहान एडवोकेट ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Advertisement









LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.