डी सी अकैडमी द्वारा महिला डी ए वी कॉलेज में करियर सेमिनार का आयोजन किया गया

0
Advertisement

सिविल सेवा, राज्य सेवा, बैंकिंग सहित अन्य प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करवाने वाली संस्था डी सी आइएएस अकैडमी द्वारा करनाल महिला डी ए वी कॉलेज 18 अगस्त को सिविल सेवा में करियर हेतु सेमिनार का आयोजन किया गया।

Advertisement


 

इसमें 2016-17 सिविल सर्विसेज एग्जाम के आई ए एस टॉपर हिमांशु जैन शामिल हुए। हिमांशु जैन ने बच्चों को एग्जाम क्रेक करने के टिप्स भी दिये। जैन ने कहा की मैं कर सकता हूँ, मैं नहीँ कर सकता ये दोनों बात सही है। यह हम पर डिपेंड करता है। कि हम क्या करना चाहते है। आगे उन्होंने कहा की आई ए एस पास करने वाले किसी दूसरे ग्रह से नही आते, बल्कि वो हमारे बीच में से ही निकलते है। बस जरूरत है।तो एक बढ़िया रणनीति की और सच्चे होंसले की। सेमिनार के उपरांत बहुत सी छात्राओं ने हिमांशू जैन से सवाल भी पूछे।

कॉलेज की प्रिंसिपल ने बताया की हमारे कॉलेज के ज्यादतर बच्चे रूरल पृष्ठभूमि से आते है। ज्यादातर को आई ए एस एग्जाम के बारे में नही पता , इस सेमिनार से हमारा मकसद उन स्टूडेंट्स को सिविल सर्विसेज एग्जाम की जानकारी देना था जो सिविल सर्विसेज में जाना चाहते है।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में करनाल नगर निगम की मेयर रेणुबाला गुप्ता ने भाग लिया। मेयर ने बताया की आजकल लड़किया किसी भी मामले में लड़को से पीछे नही है। डी सी आई ए एस अकैडमी बहुत अच्छा काम कर रही है।

कार्यक्रम के मंच का संचालन मेमोरी किंग व करियर काउंसलर पवन पबाना द्वारा किया गया। पवन पबाना ने यह घोषणा भी की, अगर महिला डी ए वी कॉलेज से कोई बेटी आई ए एस का एग्जाम पास करती है। तो डी सी क्लासेज उसे 1 लाख रुपये का ईनाम भी देगा।

करियर काउंसलर व मेमोरी किंग पवन पबाना ने विद्यार्थियों को कला, विज्ञान व वाणिज्य वर्ग के विद्यार्थियों को भविष्य के करियर विकल्प व उसके लिए होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं के बारे में जानकारी दी। विद्यार्थियों ने आईएएस क्षेत्र की संभावनाओं से संबंधित प्रश्न भी पूछे।

सेमिनार के उपरांत सभी अतिथियों को मेमेंटो भेट किये गये।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.