Advertisement


डीएवी पीजी कॉलेज में क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण की पहल पर एआईजी ट्रैफिक एंड हाइवे के सनिध्य में सड़क सुरक्षा में नागरिक दायित्व विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में रिता रंजन की अगुवाई में यमराज जीवनदान डॉट कॉम नाटक के माध्यम से ट्रैफिक नियमों के बारे में विद्यार्थियों को जागरूक किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में एडीसी कम आरटीए निशांत यादव ने शिरकत की। वहीं कार्यशाला की अध्यक्षता मेयर रेणु बाला गुप्ता ने की। एडीसी निशांत यादव ने कहा कि जिले भर में ओबे (पालन) ट्रैफिक लाइट अभियान चलाया चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में कॉलेज के विद्यार्थियों को ट्रैफिक लाइट के बारे में जागरूक करने के लिए यहां कार्यक्रम का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि युवा जब यातायात प्रहरी की भूमिका निभांएगे तभी समाज सुरक्षित हो सकता है। यादव ने कहा कि करनाल जिला दिल्ली और चंडीगढ के बीच में ऐसी जगह है, जिसके बहुत बड़े भू-भाग से हाइवे गुजरता है। ऐसे में यहां की युवाओं की जिम्मेदारी खुद सुरक्षित रहने के साथ दूसरों को सुरक्षित रखने की भी हैं।

कार्यक्रम की अध्यक्षा मेयर रेणु बाला ने कहा कि केवल सड़के, नालियां और पार्को के बन जाने से करनाल स्मार्ट नहीं बन सकेगा। शहर स्मार्ट तभी बन सकेगा जब यहां के युवा जिले का दुर्घटना मुक्त कर देंगे। उन्होंने कहा कि हम वाहन चलाते हुए यातायात नियमों का पालन नहीं करते। जिस कारण दुर्घटना का शिकार हो जाते है। व्यक्ति के घायल होने से उसका पूरा परिवार हिल जाता है। उन्होंने कहा कि परिवार के साथ समाज भी आपके साथ जुड़ा हुआ है। इसलिए ट्रैफिक नियमों का जरूर पालन करना चाहिए। कार्यक्रम प्रार्चाय डॉ. रामपाल सैनी ने सभी का धन्यवाद करते हुए डीएवी रोड सेफ्टी क्लब स्थापित करने की घोषणा की। जो लोगों को ट्रैफिक नियमों के बारे में जागरूक करेगा। उन्होंने कहा कि महाविद्यालय में इस प्रकार के जागरूकता कार्यक्रम निरंतर आयोजित किए जाएंगे। ताकि विद्यार्थी जागरूक होकर समाज में जागरूकता प्रदान कर सकें। उन्होंने आश्वासन दिया कि भविष्य में ट्रैफिक नियमों के प्रति आमजन को जागरूक करने में डीएवी कॉलेज के विद्यार्थियों का आग्रणी योगदान रहेगा। उन्होंने कहा जागरूकता का यह अभियान निरंतर जारी रहेगा।

संस्कृतकर्मी राजीव रंजन ने मंच संचालन करते हुए कहा कि दुर्घटना केवल पुलिस की कमी की वजह से नहीं, बल्कि यातायात नियमों की उल्लंघना के कारण होती है। इस मौके पर आरटीए सहायक सचिव राजकुमार राणा, इंस्पेक्टर जोगिंद्र ढूल, डॉ. जेआर कालड़ा, रमन मिड्डा, सतपाल, सुनील, डा. राज्यश्री, डॉ. मिनाक्षी कुंडू, प्रो. सुलोचना नैन, प्रो. पूनम वर्मा, प्रो. बलराम, रविंद्र, जितेंद्र चौहान सहित कॉलेज स्टाफ सदस्य मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.