यूएनओ में क्लाइमेट चैंज में हो रहे सम्मेलन से पहले कर्ण नगरी ने की विश्व के नेताओं से अपील

0
Advertisement

करनाल में पर्यावरण संरक्षण और बेटी बचाओ,पर्यावरण बचाओ अभियान का शंखनाद आज कर्ण की नगरी से हुआ। ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन से विश्व को बचाने के लिए करनाल में सैक्टर 13 में हस्ताक्षर अभियान की शुरूआत कर गई। पर्यावरण को बचाने के लिए हजारों युवाओं ने हस्ताक्षर किए।

इसके लिए आठ मीटर का कपड़ा तैयार किया गया। सारथी के संयोजक मिहिर वनर्जी ने बताया कि इसे आठ हजार मीटर बनाया जाएगा। लाखों देश वासियों के हस्ताक्षर के बाद इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ साथ संयक्त राष्ट्र संध केमहासचिव को भी दिया गया। इसकेलिए देश भर में अभियान चलेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव के आह्वान पर एक मुहिम की शुरूआत साथी ने करनाल से की।

Advertisement


हजारों लोगों को जागरूक करने के लए अभियान की शुरूआत अनन्या वनर्जी ने की। उन्होंने कहा कि आज का दिन संसार के लिए निर्णायक है। विश्व में अनैक देशों के नेता यूएनओ की सवमिट में क्लाइमेट चैंज पर अपनी कार्ययोजना को रखेंगे।इसके लिए प्रेक्टीकेल प्लान को पैश करेंगे। कार्वन का उत्सर्जन संसार के समक्ष भयावह समस्या है। 2009 से अनन्या वनर्जी पर्यावरण के संरक्षण के लिए लड़ाई लड़ रही हैं। ग्लोबल वार्मिंग और क्लाइमेट परिवर्तन को लेकर उन्होंने अर्थ इन फ्लेम का निर्माण किया।

उनकी अवाज सात राज्यों से होते हुए लाखों लोगों तक पहुंची। अनन्या का साथ उसके पिता महिर वनर्जी और उनकी माता गगन बनर्जी दे रहे हैं। इस अवसर पर भाजपा नेता विनय पोसवाल ने भी अपनी बात कही। उनका कहना था कि नई पीढ़ी को आगे आना चाहिए। इस अवसर पर महिर वनर्जी ने कहा कि भारत आज संसार के सामने ग्रीन इनर्जी के लिए उदाहरण बन गया है।

भारत का अनुकरण करना चाहिए। इस अवसर पर गगन वनर्जी नने कहा कि करनाल से जो शुरूआत हुई है वह पूरे संसार में जाएगी। इस अवसर पर देवेंद्र मोहन सिंह,सुखमन कौर,ज्योति रजत गुरलाल सहित तमाम युवा मौजूद थे। इस अवसर पर पर्यावरण बचाने के लिए शपथ भी ली।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.